• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • By December 10, 76.28% Of The Population Had Received The First Dose In The Capital, Only 87.37% Had Received It Till January 14.

संक्रमण व मौसमी बीमारी ने रोका वैक्सिनेशन:10 दिसंबर तक राजधानी में 76.28% आबादी को पहली डोज लग चुकी थी, 14 जनवरी तक 87.37% को ही लगी

रांची8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दिगंबर जैन भवन का सेंटर दिन भर खाली रहा। दिन में कभी-कभी एक-दो लोग आते रहे। - Dainik Bhaskar
दिगंबर जैन भवन का सेंटर दिन भर खाली रहा। दिन में कभी-कभी एक-दो लोग आते रहे।
  • दिसंबर के पहले सप्ताह में सीएम का निर्देश- 20 जनवरी तक 100% पूरी करें पहली डोज
  • रांची में 15-17 आयु वर्ग का टीकाकरण शुरू होने से पहले 21.3 लाख आबादी के वैक्सिनेशन का लक्ष्य था, अभी 1861932 लोगों को पहली डोज और 1182868 लोगों को दूसरी डोज लग सकी

संक्रमण ही वैक्सिनेशन काे आगे बढ़ाने में बाधा बन रहा है। क्याेंकि, लगातार बढ़ रहे संक्रमण के बाद लोग वैक्सिनेशन सेंटर तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। अधिकांश लाेग मौसमी बीमारियाें की चपेट में हैं। ऐसे मेें बीमार लोग टीका लेने से कतरा रहे हैं। अब एक बार फिर टीकाकरण का टारगेट समय पर पूरा नहीं हो सका। झारखंड टारगेट को पूरा करने में शुरू से ही पीछे रहा है।

दिसंबर के पहले सप्ताह में मुख्यमंत्री ने प्रदेश में वैक्सिनेशन की समीक्षा की थी। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिया था कि हर हाल में 20 जनवरी तक पहली डोज शत-प्रतिशत आबादी को लग जाए, यह सुनिश्चित करें। इसके बाद विभाग ने भी सभी जिलों के डीसी को पत्राचार कर उन्हें 15 जनवरी तक की डेडलाइन दिया, ताकि वैक्सिनेशन का लक्ष्य पूरा हो जाए और 26 जनवरी को प्रदेश में उपलब्धि गिनाई जाए। पर, अब इसमें ग्रहण लग गया। क्योंकि, लोगों ने ही वैक्सिनेशन का टारगेट पूरा करने में जिला प्रशासन का साथ नहीं दिया।

10 दिसंबर तक राजधानी में 76.28% आबादी यानी 1625584 लोगों को टीके का पहली डोज लग चुकी थी। उस लिहाज से 36 दिन में 505351 लोगों को ही टीके की पहली डोज लगानी थी। इधर, 35 दिन पूरा होने के बाद भी 2 लाख 69 हजार 3 लोग बाकी पहली खुराक से वंचित हैं।

12 दिसंबर से 14 जनवरी तक 11.09% को ही लगा टीका
राजधानी में 15 दिसंबर से 14 जनवरी तक वैक्सिनेशन की रफ्तार बढ़ाने के निर्देश के बाद भी टीकाकरण सुस्त पड़ा रहा। निर्धारित समय सीमा तक सिर्फ 23% आबादी को ही टीका लगाने से 100% लक्ष्य पूरा हो जाता। लेकिन, एक माह में सिर्फ 11.09% को ही टीका लग सका। बताते चलें कि 12 दिसंबर तक जिले में डोज लेने वालों की संख्या 16,25,584 थी। जबकि 8,86,060 लोग दोनों डोज ले चुके थे। 14 जनवरी के आंकड़ों के अनुसार, पहली डोज 18,61,932 लोगों ने ही ली, जबकि दूसरी डोज 11,82,868 लोगों का पूरा हुआ। अब भी फर्स्ट डोज वैक्सिनेशन से 2.69 लाख लोग पीछे हैं।

वैक्सिनेशन का टारगेट फेल होने के 3 कारण

1. कोविड के केस बढ़ने के साथ-साथ हर दूसरे घर में सर्दी-खांसी और बुखार से लोग पीड़ित हैं। चूंकि, वैक्सीन लेने के बाद भी एक-दो दिन के लिए तबीयत खराब होती है, इसलिए भी संक्रमण के मद्देनजर लोग वैक्सिनेशन नहीं करा रहे हैं।

2. मौसम पिछले कुछ दिनों से लगातार खराब है। ठंड बढ़ा हुआ है। लोगोें की तबीयत खराब होने के पीछे भी कहीं न कहीं मौसम ही वजह है। ऐसे में घर से वैक्सिनेशन सेंटर दूर होने के कारण लोग सेंटर तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। ठंड के कम होते ही वैक्सिनेशन फिर रफ्तार पकड़ सकती है।

3. शहर आबादी में फर्स्ट डोज वैक्सिनेशन लगभग पूरा है। लेकिन, ग्रामीण आबादी में टीकाकरण केंद्र दूर होने के कारण भी लोग नहीं पहुंच रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण का ग्राफ डाउन हो रहा है। टीका लेने के बाद लोग कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहे, ऐसे में ग्रामीण टीके को लेकर काफी भ्रमित है। जिला प्रशासन के स्तर से अब वैक्सिनेशन के लिए कोई खास जागरूकता नहीं है।

15 से 13 जनवरी तक वैक्सिनेशन की बात करें तो सबसे ज्यादा 4 जनवरी को हुआ। इस दिन 25 हजार तीन सौ पच्चीस लोगों ने वैक्सीन ली। जबकि, एक जनवरी को मात्र 3337 लोगों ने ही वैक्सीन ली।

15 दिसंबर से 14 जनवरी तक वैक्सिनेशन की स्थिति

दिनांक वैक्सिनेशन

  1. 15 दिसंबर 11093
  2. 16 दिसंबर 9743
  3. 17 दिसंबर 14008
  4. 18 दिसंबर 15679
  5. 19 दिसंबर 13728
  6. 20 दिसंबर 15837
  7. 21 दिसंबर 18605
  8. 22 दिसंबर 18768
  9. 23 दिसंबर 18679
  10. 24 दिसंबर 18338
  11. 25 दिसंबर 7538
  12. 26 दिसंबर 13959
  13. 27 दिसंबर 22137
  14. 28 दिसंबर 20147
  15. 29 दिसंबर 18338
  16. 30 दिसंबर 17168
  17. 31 दिसंबर 14430
  18. 1 जनवरी 3337
  19. 2 जनवरी 10816
  20. 3 जनवरी 22505
  21. 4 जनवरी 25325
  22. 5 जनवरी 25031
  23. 6 जनवरी 20823
  24. 7 जनवरी 22145
  25. 8 जनवरी 20995
  26. 9 जनवरी 11939
  27. 10 जनवरी 16303
  28. 11 जनवरी 13696
  29. 12 जनवरी 14813
  30. 13 जनवरी 11487
खबरें और भी हैं...