• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Car People Were Also Taking Ration; Two And A Half Lakh Ration Cards Canceled, 6309 Quintals Of Food Grains Are Being Saved Every Month

गरीबाें के निवाले पर अमीरों का दांव:कार वाले भी ले रहे थे राशन; रद्द किए गए ढाई लाख राशन कार्ड, 6309 क्विंटल अनाज की हर माह हाे रही बचत

रांची3 महीने पहलेलेखक: बिनाेद ओझा
  • कॉपी लिंक
राज्य में अंत्योदय याेजना के तहत करीब 59 लाख 45 हजार कार्डधारी हैं। - Dainik Bhaskar
राज्य में अंत्योदय याेजना के तहत करीब 59 लाख 45 हजार कार्डधारी हैं।

राज्य में गरीबों के लिए मिलने वाले राशन वैसे लाेग भी राशनकार्ड के माध्यम से ले रहे थे, जाे राशन कार्ड लेने की अर्हता नहीं रखते हैं। कहने का मतलब यह है कि गरीबों के निवाले पर वैसे लाेगाें ने अधिकार जमा रखा था, जिन्हें वह नहीं मिलना चाहिए। नियमानुसार उन लाेगाें काे राशन कार्ड नहीं मिल सकता है, जिनके पास चार पहिया वाहन हाे, तीन कमरे वाला पक्का मकान हाे या फिर पांच एकड़ से ज्यादा जमीन हाे।

लेकिन ऐसे लाेगाें ने भी सरकारी याेजना का लाभ उठाया और गरीबों के निवाले पर हकमारी की। राज्य में अंत्योदय याेजना के तहत करीब 59 लाख 45 हजार कार्डधारी हैं। अर्हता न रखने के बावजूद राशन कार्ड रखने वाले लाेगाें के विरुद्ध चलाए गए अभियान में करीब दाे लाख, 52 हजार 369 राशन कार्ड काे जनवरी 2020 के बाद से अबतक रद्द किया जा चुका है।

अंत्योदय याेजना के तहत राशन कार्डधारी परिवार के हर सदस्य काे पांच किग्रा राशन दिया जाता है। अगर एक परिवार में औसतन पांच सदस्य हाें, ताे एक माह में ही 6309225 किग्रा अर्थात 6309 क्विंटल अनाज की बचत हाे गई। विभागीय की कार्रवाई जारी है।

दाे मंजिला मकान था, फिर भी ले रखा था राशन कार्ड
विभाग द्वारा अभियान के दाैरान एक ऐसे राशनकार्डधारी का भी पता चला जिनका दाे मंजिला मकान था, उनके यहां चार चक्का वाहन भी था, लैपटॉप था और परिवार का सदस्य बीसीसीएल में काम कर रहा था। यह मामला तोपचांची प्रखंड का है। राशन कार्ड हरिहर प्रसाद महताे के नाम से था। विभाग ने राशन कार्डधारी काे 68000 रुपए का दंड लगाया और राशन कार्ड वापस ले लिया।

इन छह श्रेणियों में रद्द किए गए राशन कार्ड

जिन लाेगों ने छह माह लगातार राशन नहीं उठाया : इस श्रेणी में 75126 लाेगाें का राशन कार्ड रद्द किए गए। ये लगातार छह माह से भी ज्यादा समय से राशन नहीं ले रहे थे। यह माना गया कि इनकाे राशन की जरूरत ही नहीं है।

स्वेच्छा से सरेंडर करने वाले लाेग : ऐसे लाेगाें ने भी राशन कार्ड बनवा लिया जाे राशन कार्ड की अर्हता नहीं रखते थे। विभाग के अभियान के दाैरान ऐसे लाेगाें काे चेतावनी दी गई थी कि वे खुद अपना राशन कार्ड रद्द करें, अन्यथा उनके विरुद्ध दंड वसूली जैसी कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद 67379 लाेगाें ने अपना कार्ड स्वयं ही सरेंडर कर दिया।

अर्हता नहीं रहने पर भी लिया राशन कार्ड : ऐसे लाेग जिनके पास तीन कमराें का पक्का मकान हाे, पांच एकड़ से ज्यादा जमीन हाे या फिर चार पहिया वाहन हाे ताे इन लाेगाें काे राशन कार्ड नहीं लेना चाहिए फिर भी इन्हाेंने राशन कार्ड लिया। अभियान के दाैरान पकड़ में आए ताे राशन कार्ड रद्द किया गया। ऐसे रद्द राशन कार्ड की संख्या 22170 है।

डबल राशन कार्ड भी रद्द किए गए : ऐसे लाेगाें की पहचान भी की गई, जिन्होंने डबल राशन कार्ड बनवा रखा था। दोनों कार्ड का लाभ भी उठाया जा रहा था। आधार सीडिंग के माध्यम से ही ऐसे मामले पकड़ में आए। इस तरह के कुल 14204 राशन कार्ड रद्द किए गए। आधार सीडिंग के बाद दो राशन कार्ड एक ही नाम से बनवाना अब असंभव हो गया है।

वैसे परिवार, जिनका काेई अता-पता ही नहीं है
जांच के दाैरान यह बात भी सामने आई कि ऐसे लाेगाें के नाम पर भी राशन कार्ड बने हुए हैं, जिनका काेई अता-पता ही नहीं है। इस तरह के बिना अस्तित्व वाले 12015 राशन कार्ड रद्द किए गए।

राशन कार्डधारियों का निधन : ऐसे लाेग जिनका निधन हाे गया, लेकिन राशन कार्ड में नाम चल रहा था। इनके नाम पर राशन का लगातार आवंटन हो रहा था और उठाव भी दिखाया जा रहा था। ऐसे सभी लोगों का राशन कार्ड रद्द किया गया। ऐसे कुल 20786 राशन कार्ड रद्द किए गए।

खबरें और भी हैं...