पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Chamber Elections In September, But The Mobilization Started Intensifying, Discussions Started On The Names Of The Members To Form The Team

बाजार-उद्योग में लोकतंत्र:चैंबर चुनाव सितंबर में, पर अभी से तेज होने लगी लामबंदी, टीम बनाने के लिए सदस्यों के नामों पर विचार-विमर्श शुरू

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिछली बार आम सहमति और निवर्तमान अध्यक्ष के परामर्श के बाद हुआ था निर्विरोध चयन

फेडरेशन ऑफ झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के चुनाव के लिए लामबंदी शुरू हो गई है। कंपनी एक्ट के तहत हर हाल में 30 सितंबर तक चुनाव कराना अनिवार्य है। इसलिए, चुनाव लड़ने के इच्छुक लोग अभी से अपनी-अपनी टीम बनाने के लिए सदस्यों के नामों पर विचार-विमर्श करने लगे हैं। कई वर्षों के बाद पिछली बार आम सहमति और निवर्तमान अध्यक्ष के परामर्श से निर्विरोध चुनाव हुआ था।

वहीं, इस बार मतदान कराने की बात सामने आ रही है। चैंबर के एक पदाधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि वर्तमान कार्यसमिति और अध्यक्ष प्रवीण जैन छाबड़ा भी चाहते हैं कि इस बार चुनाव नियत समय सितंबर में ही होना चाहिए। हालांकि, अभी चुनाव में ढाई महीने का समय है। पिछले सत्र में चैंबर के महासचिव रहे धीरज तनेजा और किशोर मंत्री ने चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है।

आपसी सहमति से हुए पिछले चुनाव में गुटबाजी को दरकिनार करते हुए आरडी सिंह गुट के किशोर मंत्री को कार्यसमिति में जगह दी गई थी। वर्तमान कार्यकारिणी में किशोर मंत्री और धीरज तनेजा दोनों उपाध्यक्ष हैं। इसके पहले कुणाल आजमानी के कार्यकाल में धीरज तनेजा महासचिव थे। कार्यसमिति के सदस्यों का कहना है कि चैंबर चुनाव में टीम की मान्यता नहीं है, सिर्फ व्यक्तिगत दावेदार होते हैं। चैंबर के संविधान में इसका प्रावधान भी नहीं है।
2019 में हुआ था ऑनलाइन चुनाव
2019 में चुनाव ऑनलाइन कराया गया था। इस बार भी अगर सबकुछ ठीक रहा, तो उसी पद्धति से चुनाव होगा। कोरोना के कारण पिछले साल कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय के आदेश के बाद चैंबर ने कार्यकारिणी को तीन महीने का एक्सटेंशन दे दिया था। जिससे चुनाव निर्धारित समय के तीन महीने बाद दिसंबर में कराया गया। पूर्व अध्यक्षों और सदस्यों की मानें, तो चैंबर को बोल्ड और जानकार अध्यक्ष की जरूरत है।

पिछले साल कोरोना संक्रमण के कारण नहीं हुआ था मतदान

राज्य में व्यवसायियों के सबसे संगठन फेडरेशन ऑफ झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज का चुनाव प्रत्येक वर्ष नियत समय 30 सितंबर तक कराया जाता है। इसे लेकर महीने-दो महीने पहले से व्यवसायियों के बीच त्योहार की तरह उत्साह का माहौल बन जाता है, लेकिन पिछले साल कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण मतदान कराने की स्थिति नहीं आई। इस बार स्थिति सामान्य रही, तो मतदान कराया जाएगा। हालांकि, चुनाव की तैयारी अभी से दिखने लगी है।

खबरें और भी हैं...