झारखंड के हर पंचायत में अब मिलेगी सस्ती दवा:सर्दी-खांसी, बुखार, दस्त, दर्द की दवा के लिए अब नहीं लगानी होगी शहर की दौड़

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

झारखंड के प्रत्येक ग्राम पंचायत में जेनरिक मेडिकल स्टोर संचालित होंगी। इनमें सर्दी-खांसी, बुखार, दस्त, दर्द आदि छोटी-मोटी परेशानियों की दवाएं उपलब्ध होंगी। अच्छी बात यह है कि दुकान के संचालन के लिए फार्मासिस्ट की अनिवार्यता नहीं होगी।

ऐसे सीमित लाइसेंस प्राप्त दुकान संचालक लगातार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत डॉक्टर के संपर्क में रहेंगे। उनके निर्देश पर ही ग्रामीण स्तर पर तत्परता से रोगियों को दवा उपलब्ध करा सकेंगे। दवाओं पर होने वाले खर्च का वहन राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के फंड से किया जाएगा।

जानिए कैसे लोग कर सकते हैं इसके लिए अप्लाई
स्टोर संचालन के लिए वैसे लोग भी अप्लाई कर सकते हैं, जो फार्मासिस्ट के संपर्क में नहीं हैं, लेकिन दवाओं का थोड़ा ज्ञान है। इसके लिए BDO के माध्यम से सूचना जारी की जाएगी। प्राप्त आवेदनों के आधार पर मुखिया या पंचायत सचिव की अनुशंसा पर BDO लाइसेंस के लिए फारवर्ड करेंगे। इसके लिए न्यूनतम योग्यता इंटर तय की गई है। योग्यता के अधार पर वरीयता दी जाएगी।