• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Classes Will Also Start From 6th To 8th Class; This Time Devotees Will Be Able To Go To Durga Puja Pandals, Online Booking Should Be Arranged For Darshan In Puja Pandals

भास्कर सुझाव:छठी से 8वीं तक भी शुरू होंगी कक्षाएं; इस बार दुर्गा पूजा पंडालों में जा सकेंगे श्रद्धालु, पूजा पंडालों में दर्शन के लिए हो ऑनलाइन बुकिंग की व्यवस्था

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पूजा पंडालों में दर्शन के लिए हो ऑनलाइन बुकिंग की व्यवस्था
  • कोरोना संक्रमण थमने और पड़ोसी राज्यों को देख जल्द निर्णय लेगी सरकार

इस साल शर्तों के साथ राज्य में दुर्गा पूजा पंडाल बनेंगे। कुछ विशेष गाइडलाइन का पालन करते हुए श्रद्धालुओं को पंडालों में घुसने और प्रतिमाओं के दर्शन की भी अनुमति मिलेगी। कोरोना संक्रमण के लगातार थमे रहने और पड़ोसी राज्य बिहार-बंगाल में दुर्गा पूजा पंडालों का निर्माण करने की अनुमति को देखते हुए सरकार इस पर विचार कर रही है। वहीं दूसरे राज्यों में स्कूल खोले जाने के निर्णय को देखते हुए

झारखंड में भी कक्षा छठी से आठवीं तक के लिए स्कूल खोले जा सकते हैं। इसी तरह कुछ प्रतिबंधों के साथ श्रद्धालुओं के लिए धार्मिक स्थलों को भी खोलने पर राज्य सरकार गंभीरता से विचार कर रही है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि एक-दो दिन में राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकार की मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में इस पर अंतिम निर्णय ले लिया जाएगा। कुछ अन्य क्षेत्रों में भी लॉकडाउन में अतिरिक्त छूट दी जा सकती है। उनमें दुकानों को खोले जाने की अवधि रात आठ बजे से बढ़ाई जा सकती है।

दूसरे चरण में शुरू हो सकती हैं पहली से 5वीं तक कक्षाएं

झारखंड में 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए स्कूल अभी खुले हुए हैं। शिक्षा विभाग ने अन्य राज्यों का हवाला देते हुए वर्ग एक से आठवीं तक के स्कूल खोलने का आग्रह सरकार से किया है, लेकिन आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि ये सभी कक्षाएं एक बार में ही नहीं शुरू की जाएंगी। पहले चरण में कक्षा छह से आठ तक, उसके बाद दूसरे चरण में कक्षा एक से पांच तक के स्कूल खोलने का निर्णय लिया जाएगा।

इन राज्यों में छठी से 8वीं तक खुले स्कूल : बिहार, महाराष्ट्र, गुजरात, हरियाणा, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, त्रिपुरा, तेलंगाना और दिल्ली।
इन राज्यों में पहली से 5वीं तक खुले स्कूल: बिहार, हरियाणा, छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश और उत्तर प्रदेश।

दुर्गा पूजा समितियां और श्रद्धालु ध्यान दें
श्रद्धालुओं को वैक्सीन की दोनों डोज लेने का सर्टिफिकेट दिखाने पर पंडाल में घुसने की अनुमति पर फैसला संभव

दुर्गा पूजा सात अक्तूबर से शुरू हो रही है। ऐसे में अब 24 दिन बाकी रह गया है। पूजा समितियां पंडाल निर्माण और सरकार की गाइडलाइन को लेकर संशय में हैं। पूजा समितियों के आग्रह को देखते हुए सरकार अगले एक-दो दिन में दुर्गा पूजा को लेकर फैसला करेगी।

इन शर्तों के साथ मिल सकती है अनुमति

  • पूजा पंडालों का निर्माण होगा, लेकिन उनके आकार-प्रकार पर अपेक्षाकृत छोटे होंगे। पिछले साल पंडाल निर्माण पर सरकार ने रोक लगा रखी थी।
  • पूजा पंडालों में इस बार पूजा समितियों के लोगों की संख्या बढ़ सकती है। श्रद्धालुओं को भी पाबंदियों के साथ प्रवेश करने की छूट मिल सकती है। पिछले साल पूजा समिति के 15 लोगों को ही पंडाल में रहने की अनुमति थी। श्रद्धालु पंडाल में हीं जा सकते थे।
  • कोरोना संक्रमण को देखते हुए वैक्सीन की दोनों डोज लेने का सर्टिफिकेट दिखाने पर पंडाल में घुसने की अनुमति मिल सकती है। मास्क भी जरूरी होगा।{भीड़ न बढ़े, इसके लिए पूजा पंडालों में प्रतिमाओं के दर्शन के लिए ऑनलाइन बुकिंग की भी व्यवस्था की जा सकती है। सरकार विशेष निर्देश दे सकती है।
  • शर्तों के साथ लाइटिंग और सजावट की अनुमति दी जा सकती है। पिछले साल इस पर रोक थी।
  • तोरण द्वार और प्रवेश द्वार बनाए जा सकते हैं, पिछली बार ऐसे सभी निर्माणों पर पाबंदी लगा दी गई थी।

पड़ाेसी राज्याें में गाइडलाइन
बिहार : कोरोना संक्रमण बढ़ा तो पूजा लाइसेंस रद्द

पटना डीएम ने छोटे पंडाल बनाने की अनुमति दी है। कोविड प्रबंधन के मानकों को लागू करने का आदेश है। यह भी कहा गया है कि अगर कोरोना संक्रमण में बढ़ोतरी हुई तो पूजा समितियों को दुर्गा पूजा के लिए जारी किए गए लाइसेंस रद्द कर दिए जाएंगे।

प. बंगाल : श्रद्धालुओं के लिए वैक्सीन की दाेनाें डाेज जरूरी
पश्चिम बंगाल में पंडाल निर्माण की अनुमति दी गई है। घूमने वाले श्रद्धालुओं को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेना और मास्क लगाना अनिवार्य किया गया है। इसके अलावा सरकार ने पूजा समितियों को 50 हजार रुपए का अनुदान और बिजली बिल में 50 प्रतिशत छूट दिए जाने का फैसला किया है।