पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक्शन में हेमंत सोरेन:बीडीओ की मौत के बाद सीएम का आदेश- देवघर में मनरेगा घोटाले की जांच एसीबी करेगी

रांची10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नागेंद्र तिवारी - Dainik Bhaskar
नागेंद्र तिवारी
  • मुखिया के खिलाफ अपहरण और हत्या के केस
  • एसीबी को मामले में पीई दर्ज करते हुए जांच रिपोर्ट जल्द देने को कहा है

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने देवघर जिले की मसनजोरा ग्राम पंचायत स्थित मथुरापुर में मनरेगा योजनाओं में बरती गई अनियमितताओं की एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) जांच का आदेश दिया है। एसीबी को  मामले में पीई दर्ज करते हुए जांच रिपोर्ट जल्द देने को कहा है। देवघर के पालाजोरी बीडीओ सह सीओ नागेंद्र तिवारी की संदेहास्पद मौत और परिजनों के आरोप को गंभीरता से लेते हुए सीएम ने यह कदम उठाया है।

जमशेदपुर में रेल पटरी से बरामद बीडीओ नागेंद्र के शव को हत्या करार देते हुए परिजनों ने आरोप लगाया है कि मनरेगा योजनाओं के तहत हुए कार्यों की जांच करने के कारण मसनजोरा मुखिया गायत्री देवी, उनके पति और सहयोगी लोचन महतो प्रताड़ित कर रहे थे, जिससे नागेंद्र तनाव में चल रहे थे।

इस संबंध में दर्ज परिवाद के अनुसार, मसनजोरा ग्राम पंचायत में मनरेगा के तहत जो योजनाएं ली गईं, उनमें 50 प्रतिशत कार्य फर्जी हैं। इसके अलावा डोभा के निर्माण में भी नियम के विरुद्ध जेसीबी का इस्तेमाल किया गया। फर्जी मस्टर रोल के आधार पर राशि की भी निकासी कर ली गई, जो मनरेगा गाइडलाइन के प्रतिकूल है।

बीडीओ के परिजनाें से मिले मंत्री बादल पत्रलेख और सरयू राय

इधर, दिवंगत बीडीओ नागेंद्र तिवारी के परिजनाें से कृषि मंत्री बादल पत्रलेख और विधायक सरयू राय ने उनके घर जाकर मुलाकात की। मृतक के बड़े भाई सुरेंद्र तिवारी ने मंत्री से कहा कि उनके भाई ने मनरेगा याेजनाओं की जांच में गड़बड़ियां पकड़ी थीं और बालू तस्कराें पर नकेल कसी थी, जिसकी वजह से पालाजोरी मुखिया संघ नाराज था। संघ के अध्यक्ष दाउद अालम को लेकर नागेंद्र काफी डिप्रेशन में थे। दाऊद आलम और वहां के पंचायत सचिवों ने नागेंद्र तिवारी को जान से मारने की धमकी दी थी। इस पर मंत्री ने उच्चस्तरीय जांच का आश्वासन दिया।

भतीजा बोला- चाचा ने हाल जानने के लिए फाेन किया था 

हजारीबाग में रहने वाले नागेंद्र तिवारी के भतीजा अंकित तिवारी ने बताया कि रविवार दोपहर 12.30 बजे चाचा से उसकी बात हुई थी। हालचाल जानने के लिए चाचा ने ही उसे फोन किया था। चाचा ने हालचाल लिया और कहा कि वह किसी से मिलने जा रहे हैं। मिलने के बाद दोबारा फोन करेंगे। 

घर के एक सदस्य को नौकरी दिलाने की मांग
मृतक के छोटे भाई शंकर तिवारी की पत्नी ने मंत्री बादल से घर के एक सदस्य को नौकरी दिलाने की मांग की है। शंकर तिवारी की पत्नी ने कहा कि बीडीओ की मौत से घर की पूरी जिम्मेदारी बड़े भाई सुरेंद्र तिवारी पर आ गई है। मंत्री ने उनकी मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया है। उन्होंने उच्च स्तरीय जांच कराने का भी आश्वासन दिया। राजकीय सम्मान दिलाने के लिए पीड़ित परिवार को लेकर मुख्यमंत्री से मिलेंगे। कहा किनागेंद्र तिवारी ईमानदार अधिकारी थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें