रिजल्ट के खिलाफ शुक्रवार को प्रदर्शन:छात्राओं की पिटाई पर आयोग ने मांगी रिपोर्ट, इधर फिर लाठीचार्ज

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रंधीर वर्मा चौक पर प्रदर्शनकारियों पर लाठियां बरसाते जवान। - Dainik Bhaskar
रंधीर वर्मा चौक पर प्रदर्शनकारियों पर लाठियां बरसाते जवान।
  • धनबाद में लाठीचार्ज के खिलाफ बंद में हंगामा
  • थानेदार समेत 3 एबीवीपी व भाजपा कार्यकर्ता जख्मी
  • एसएसपी ने दिया पूरी घटना की जांच का आदेश

झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक) के रिजल्ट के खिलाफ शुक्रवार को प्रदर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं की पिटाई को राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने गंभीरता से लिया है। डीसी से 3 दिन में रिपोर्ट मांगी है। आयाेग की रजिस्ट्रार अनु चौधरी ने कहा है कि सोशल मीडिया की खबर के अनुसार, नाबालिग बच्चे शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे।

उन्हें रोकने के लिए एसडीएम ने लाठीचार्ज किया। इसमें कई नाबालिग लड़कियां गंभीर रूप से घायल हुई हैं। इसलिए डीसी नाबालिग बच्चियों के बयान की कॉपी समेत अन्य दस्तावेज भी दें। इधर, पुलिस लाठीचार्ज के विरोध में शनिवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के धनबाद बंद के दौरान प्रदर्शनकारियों पर फिर लाठियां चलीं।

इसमें सदर थानेदार विनय कुमार, एबीवीपी कार्यकर्ता राेहित, भाजपा के अभिषेक घायल हाे गए। एसएसपी ने घटना की जांच का आदेश दिया है। इधर,

एसएसपी ने कहा- प्रदर्शन के दौरान बिना आदेश के सैप जवानों ने किया लाठीचार्ज

धनबाद बंद के दाैरान शनिवार काे रणधीर वर्मा चाैक से लेकर कलक्ट्रेट और थाने तक जमकर हंगामा हुआ। छात्राें ने एबीवीपी के कार्यकर्ताओं साथ रणधीर वर्मा चाैक पर प्रदर्शन किया। विधायक राज सिन्हा सहित कई भाजपा कार्यकर्ता भी सड़क पर उतरे। चाैक के बाद प्रदर्शनकारी समाहरणालय पहुंच गए और वहां भी नारेबाजी करने लगे।

एएसपी मनाेज स्वर्गियारी और सदर थानेदार विनय कुमार ने उन्हें समझाकर वहां से हटाने का प्रयास किया, पर वे नहीं माने। प्रदर्शनकारियाें ने जबरन समाहरणालय में घुसने की काेशिश की, ताे धक्का-मुक्की हाेने लगी। इसी दाैरान जवानों ने लाठीचार्ज कर दिया। एसएसपी संजीव कुमार ने कहा कि कहा कि कुछ सैप जवानों ने बिना आदेश के ही पीछे से प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज कर दिया।

इन जवानों को चिह्नित कर कार्रवाई की जाएगी। इधर, भाजयुमो ने कहा है कि दो दिन पुलिस लाठीचार्ज के विरोध में साेमवार काे रणधीर वर्मा चाैक पर महाधरना दिया जाएगा।