पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

1335 पासपोर्ट व 10 लाख रुपए जब्ती मामला:कंसल्टेंसी संचालक फरार, विदेश में नौकरी दिलाने के लिए जमा कराए थे पासपोर्ट-कैश

रांची8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी को ले जाती पुलिस। - Dainik Bhaskar
आरोपी को ले जाती पुलिस।
  • बेरोजगारों को भेजा जाता था विदेश, क्लब रोड में था ऑफिस

बिरसा चौक के पास सोमवार रात को जगन्नाथपुर पुलिस ने बड़ी संख्या में पासपोर्ट व नकदी के साथ राजेश प्रसाद को पकड़ा था। राजेश से सोमवार व मंगलवार को लगातार पूछताछ की गई। उसके पास से मिले पासपोर्ट व पैसे का मिलान किया गया। कुल 1335 पासपोर्ट व 10 लाख रुपए मिले हैं। पूछताछ में ये बातें सामने आई हैं कि सारे पासपोर्ट क्लब रोड स्थित सिटी सेंटर में विगत कई वर्षों से चल रहे गोल्डन इंटरप्राइजेज मैनपावर कंसल्टेंसी में जमा किए गए थे।

उसका संचालक राजेश सिंह है, जो अब फरार है। ये उन बेरोजगारों के पासपोर्ट हैं, जिन्हें रोजगार के लिए खाड़ी देश भेजा जाना था। राजेश ने बताया कि उसे राजेश सिंह ने पासपोर्ट व पैसे जमशेदपुर में किसी को देने के लिए दिया था। डिलीवरी लेने वाला कौन था, यह उसे मालूम नहीं है। जिस बैग को राजेश सिंह ने उसे दिए थे, उसमें पैसे भी हैं, इसकी जानकारी भी उसे नहीं थी। राजेश ने बताया कि वह राजेश के कार्यालय में वह 20 हजार रुपए महीने पर नौकरी करता था।

गोल्डन इंटरप्राइजेज मैनपावर कंसल्टेंसी के संचालक के फरार होने बढ़ा संदेह

पुलिस ने जब सोमवार की रात 9.25 बजे राजेश को पकड़ा, उसके बाद गोल्डन इंटरप्राइजेज मैनपावर कंसल्टेंसी का संचालक राजेश सिंह उसे लगातार फोन कर रहा था। जब उसने रिसीव नहीं किया तब उसे शंका हुई। उसके बाद राजेश सिंह चुटिया स्थित अपने घर को खाली कर और ऑफिस में ताला बंदकर भाग गया। पुलिस ने सोमवार की रात ही राजेश के घर व कार्यालय में छापेमारी की। लेकिन, वह नहीं मिला। मोबाइल भी स्वीच ऑफ कर लिया है।

अगर वैध कागजात नहीं मिले तो आरोपी को भेजा जाएगा जेल

एएसपी हटिया विनीत कुमार ने कहा कि जांच में सभी पासपोर्ट वैध पाए गए हैं। ये गोल्डन इंटरप्राइजेज मैनपावर कंसल्टेंसी में जमा थे। जांच जारी है। अगर कंसल्टेंसी वैध कागजात प्रस्तुत करती है तो राजेश को छोड़ दिया जाएगा, नहीं तो आगे की कार्रवाई की जाएगी। मामला 1300 से ज्यादा लोगों के पासपोर्ट का है। इसलिए, प्रत्येक बिंदु पर जांच की रही है।

इनकम टैक्स को दी जानकारी, आरोपी का हुआ कोविड टेस्ट

पुलिस ने मंगलवार को राजेश प्रसाद का कोविड टेस्ट कराया। इधर, पुलिस ने नकद 10 लाख रुपए मिलने के बाद इनकम टैक्स व पासपोर्ट ऑफिसर को भी सूचना दे दी है। पुलिस ने जिन लोगों के पासपोर्ट हैं, उनमें से कुछ लोगों से बातचीत की है, जिसमें पता चला कि वे सामान्य लोग हैं, जो रोजगार की तलाश में हैं। उनसे विदेश में नौकरी दिलाने के लिए कंसल्टेंसी ने पासपोर्ट, उनके बॉयोडेटा और कुछ एडवांस लिए थे।

खबरें और भी हैं...