पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

झारखंड के युवाओं के लिए कोरोना की दूसरी लहर जानलेवा:पहली लहर से 4% अधिक हुई 30-44 आयु वर्ग के लोगों की मौत, जबकि संक्रमित पिछली बार से 4% कम हुए, 60+ वालों की सबसे अधिक मौत

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

झारखंड में कोरोना की दूसरी लहर यहां के 30-44 आयु वर्ग के युवाओं पर भारी पड़ी है। इस बार ये न केवल इनके लिए खतरनाक बल्कि जानलेव साबित हो रही है। हेल्थ विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, अप्रैल 2020 से अभी तक झारखंड में 3,41,576 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। इनमें पहली लहर में 118629 लोग और दूसरी लहर में 211417 लोग संक्रमित हुए हैं।

कुल संक्रमितों में 5060 लोगों की मौत हुई है। पहली लहर में अप्रैल 2020 से मार्च 2021 तक राज्य में जहां 1114 मौतें हुई थी। वहीं, दूसरी लहर में 1 अप्रैल से 7 जून तक कोविड से 3946 मौतें हो चुकी हैं। इसमें 529 मौतें केवल 30 से 44 आयु वर्ग के लोगों की है। जो पहली लहर से 4% अधिक है।

पहली लहर में इस आयुवर्ग के कुल 9.13% संक्रमितों की मौत हुई थी। इस बार यह बढ़कर 13.42% प्रतिशत हो गया। हालांकि संक्रमित होने के मामले में इनकी संख्या पहली लहर के 35% से घटकर 31% हो गई थी।

इस बार भी 60+ वालों की सबसे ज्यादा मौतें

पहली लहर की तरह दूसरी लहर में भी 60+ वालों की ही सबसे ज्यदा मौतें हुई हैं। लेकिन इनके मौत की संख्या का ग्राफ इस बार नीचे गया है। पहली लहर में इस आयु वर्ग के 53% लोगों की मौत हुई थी, जो इस बार घटकर 41.63% रह गई है। वहीं 45-49 आयु वर्ग वाले लोगों की पहली लहर में 34.08% तो इस लहर में 31.54% की मौत हुई। वहीं 15-29 आयु वर्ग वाले के मौत की संख्या भी 3.2% से घटकर 2.17% रह गई।

दोनों लहर में अभी तक बच्चे सुरक्षित

झारखंड में कोरोना के दूसरी लहर में बच्चे अभी भी सुरक्षित हैं। दोनों लहर में अभी राज्य भर के 5% से कम बच्चे संक्रमित हुए हैं। वहीं, इस आयु वर्ग के बच्चों की मौत की बात करें तो पहली लहर में 0.39 और दूसरी लहर में 0.2% की मौत हुई है। वहीं, 15-29 आयु वर्ग के बच्चे पहली और दूसरी दोनों लहर में 28-28% संक्रमित हुए थे। वहीं बात करें 45-49 आयु वर्ग की तो दोनों लहर 23% संक्रमित हुए थे। 60+ वालों के संक्रमित होने की संख्या इस बार 9 % से बढ़कर 13% हो गई है।

खबरें और भी हैं...