कोतवाली थाने में केस दर्ज:बड़ालाल स्ट्रीट अपर बाजार के व्यवसायी से पीएलएफआई के दिनेश गोप ने मांगी तीन करोड़ की रंगदारी

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उग्रवादी संगठन पीएलएफआई का रांची के व्यवसायियों और बिल्डरों से रंगदारी मांगने और धमकाने का सिलसिला जारी है। इससे कारोबार जगत में दहशत का माहौल है। पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप ने अब बड़ालाल स्ट्रीट अपर बाजार के व्यवसायी से तीन करोड़ रुपए की रंगदारी मांगी है। इसे लेकर व्यवसायी के कर्मचारी मनीष शर्मा ने कोतवाली थाने में केस दर्ज कराया है।

प्राथमिकी के अनुसार, मनीष शर्मा अपर बाजार के एक बड़े व्यवसायी जालान साहब के यहां काम करते हैं। जालान साहब के मोबाइल फोन पर आने वाले कॉल वे ही रिसीव करते हैं। 18 सितंबर को दिन के 3.02 पर जालान साहब के माेबाइल फोन पर एक धमकी भरा मैसेज आया, जो लेटर पैड पर अंकित था।

इस लेटर पैड पर पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप का हस्ताक्षर था। इसमें धमकी दी गई है कि आठ दिन के अंदर तीन करोड़ रुपए पीएलएफआई संगठन को दे दो, अन्यथा फौजी कार्रवाई की जाएगी। पैसे नहीं मिलने पर जान-माल का नुकसान झेलना होगा। मनीष शर्मा ने पुलिस को यह भी बताया कि मैसेज के अलावा जालान साहब के मोबाइल फोन पर एक कॉल भी किया गया, जिसमें दिनेश गोप का नाम लेते हुए तीन करोड़ रुपए नहीं देने पर बुरे अंजाम भुगतने की धमकी दी गई।

प्राथमिकी में पुलिस से गुहार लगाई गई है कि आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी के साथ व्यवसायी और उनके परिवार को सुरक्षा मुहैया कराई जाए। इधर, पुलिस ने जिस नंबर से धमकी भरे मैसेज और कॉल आए हैं, अपनी टेक्निकल टीम के साथ छानबीन में जुट गई है।

पुलिस का दावा

पीएलएफआई का सफाया, पर गोप समेत 10 वांछित हैं

झारखंड पुलिस ने शुक्रवार को चाईबासा से पीएलएफआई के एरिया कमांडर हरसिंह सांडी उर्फ मोदी और उसके पांच साथियाें काे गिरफ्तार करने के बाद दावा किया था कि पीएलएफआई का लगभग सफाया कर दिया गया है। वहीं हकीकत यह है कि 25 लाख का इनामी दिनेश गोप समेत 10 इनामी पीएलएफआई उग्रवादी पुलिस की सूची में शामिल हैं। पुलिस सबकी सरगर्मी से तलाश कर रही है। इन सबकी गिरफ्तारी के लिए आम लोगों से सहयोग की अपील की जा रही है।

इधर, रांची पुलिस का यह हाल

भाजपा नेता से रंगदारी मांगने वाले को ढूंढ़ नहीं सकी पुलिस

पिछले सप्ताह भाजपा नेता और बिल्डर रमेश सिंह से दो करोड़ रुपए की रंगदारी की मांग की गई थी। रंगदारी कुख्यात अमन साहू गिरोह के नाम पर मांगी गई थी। रमेश सिंह की ओर से इस संबंध में गुरुवार को स्थानीय सुखदेवनगर थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी। इनके अलावा एक और भाजपा नेता संजय मिनोचा से भी पिछले हफ्ते ही अपराधियों ने 10 लाख रुपए रंगदारी मांगी थी। संजय मिनोचा ने चुटिया थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। रांची पुलिस का यह हाल है कि इन दोनों मामलों में से एक का भी खुलासा नहीं कर सकी है।

खबरें और भी हैं...