कोरोना के खिलाफ जंग / पुलिस-प्रशासन का मानवीय चेहरा: लॉकडाउन के दौरान मजदूरों को रोका, स्क्रिनिंग के बाद खाना खिलाया

जरुरतमंदों को मास्क बांटते गोड्डा के एसपी। जरुरतमंदों को मास्क बांटते गोड्डा के एसपी।
रांची में गैस सिलेंडर के लिए खड़ी भीड़। रांची में गैस सिलेंडर के लिए खड़ी भीड़।
दुमका में मजदूरों के ठहरने व खाने की व्यवस्था। दुमका में मजदूरों के ठहरने व खाने की व्यवस्था।
रांची में सड़क किनारे खाना बनाती महिला। रांची में सड़क किनारे खाना बनाती महिला।
भूखों को खाना खिलाते गोड्डा के एसपी। भूखों को खाना खिलाते गोड्डा के एसपी।
सिंहमोड़ में गैस के लिए जुटी भीड़। सिंहमोड़ में गैस के लिए जुटी भीड़।
कोडरमा के झुमरी तिलैया में सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में लोगों को जागरुक किया गया। कोडरमा के झुमरी तिलैया में सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में लोगों को जागरुक किया गया।
X
जरुरतमंदों को मास्क बांटते गोड्डा के एसपी।जरुरतमंदों को मास्क बांटते गोड्डा के एसपी।
रांची में गैस सिलेंडर के लिए खड़ी भीड़।रांची में गैस सिलेंडर के लिए खड़ी भीड़।
दुमका में मजदूरों के ठहरने व खाने की व्यवस्था।दुमका में मजदूरों के ठहरने व खाने की व्यवस्था।
रांची में सड़क किनारे खाना बनाती महिला।रांची में सड़क किनारे खाना बनाती महिला।
भूखों को खाना खिलाते गोड्डा के एसपी।भूखों को खाना खिलाते गोड्डा के एसपी।
सिंहमोड़ में गैस के लिए जुटी भीड़।सिंहमोड़ में गैस के लिए जुटी भीड़।
कोडरमा के झुमरी तिलैया में सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में लोगों को जागरुक किया गया।कोडरमा के झुमरी तिलैया में सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में लोगों को जागरुक किया गया।

  • बंगाल के वर्धमान से बिहार के सासाराम जा रहे मजदूरों को रोककर कराया भोजन, बिहार के बॉर्डर पर छोड़ा
  • कोरोना के खिलाफ जंग को लेकर गोड्डा एसपी उतरे सड़क पर, जनता को किया जागरुक, मास्क बांटे, भूखे को खाना भी खिलाया

दैनिक भास्कर

Mar 27, 2020, 06:17 PM IST

गोड्डा/दुमका. देश में 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान झारखंड के गोड्डा और दुमका पुलिस का मानवीय चेहरा सामने आया है। दुमका और गोड्डा में पुलिस प्रशासन ने कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में गरीब और असहायक के साथ खड़ी नजर आई। शुक्रवार को दुमका प्रशासन की ओर से पैदल घर जा रहे मजदूरों को रोका गया और उन्हें खाना भी खिलाया गया। उधर, गोड्डा एसपी खुद सड़कों पर उतरे और भूखे गरीबों को खाना खिलाया और जरुरतमंदों को मास्क भी बांटा।

दुमका डीसी की ओर से ट्वीट कर जानकारी दी गई कि 23 मजदूर जो बिहार के सासाराम के हैं, वे सभी लॉकडाउन में बंगाल के वर्धमान से घर की ओर पैदल जा रहे थे। इस दौरान उन्हें दुमका हेडक्वार्टर में रोका गया और उनकी स्क्रिनिंग की गई। फिर उन्हें राही राहत केंद्र शेल्टर होम में ठहराकर खाने की व्यवस्था की गई। प्रशासन की ओर से जानकारी दी गई कि सभी मजदूर स्वस्थ्य हैं।

वहीं एक अन्य ट्वीट में जानकारी दी गई कि मजदूरों के बिहार बॉर्डर तक छोड़ने का प्रबंध किया गया। साथ ही वहां के स्थानीय प्रशासन को भी इस बारे में जानकारी दी गई। ट्वीट में बताया गया कि मजदूरों ने भागने की कोशिश की लेकिन उचित प्रबंध के बाद वे खुश दिखे। अपील की गई कि दूसरे राज्यों में फंसे लोगों के कई फोन कॉल्स आ चुके हैं, आप जितनी और जैसी सहायता कर सकते हैं... कीजिए।

उधर, शुक्रवार को गोड्डा के एसपी शैलेंद्र वर्णवाल भी कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में शामिल होते हुए सड़कों पर उतरे। इस दौरान उन्होंने अपनी टीम के साथ भूखे लोगों को खाना खिलाया। इस दौरान उन्होंने जरुरतमंद लोगों को मास्क भी बांटा। एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल ने बताया कि मैं जिला का एसपी हूं। मेरे साथ राइफल धारी पुलिस बॉडी गार्ड है। पर जो बीमारी कोरोना आई है, उसका मुकाबला राइफल और बंदूक से नहीं किया जा सकता है। उसका सबसे बड़ा हथियार मास्क और सोशल डिस्टेंनशिग है। आपकी सावधानी और जागरूकता से ही कोरोना जैसे बीमारी को मात दिया जा सकता है। एसपी ने आम लोगों से कहा कि मैंने खूद मास्क पहना है, आप भी मास्क पहनिए।

कोडरमा में सोशल डिस्टेंसिंग कार्य को मुख्यमंत्री ने सराहा
शुक्रवार को कोडरमा के डीसी ने ट्विटर पर झुमरी तिलैया की एक फोटो पोस्ट की। लिखा कि झुमरी तिलैया की आज सुबह की तस्वीर। कार्यपालक पदाधिकारी कौशलेश कुमार स्वयं खडे रहकर सब्जी और फल विक्रेताओं को सोशल डिस्टेंसिंग के अनुपालन के लिये प्रोत्साहित करते हुए। प्रशासन के अपील पर सामाजिक अलगाव का अनुपालन करनेवालों को धन्यवाद। इसके बाद मुख्यमंत्री ने लिखा कि अच्छा कार्य। अन्य जिलों के उपायुक्त भी ऐसा कार्य कराना सुनिश्चित करें।
 
कई मामलों में मुख्यमंत्री ने व्यवस्था के निर्देश दिए
ट्विटर पर एक युवक ने रातू रोड पर एक महिला की फोटो पोस्ट की जिसमें महिला अपने बच्चे को गोद में रखकर सड़क किनारे खाना बना रही है। उक्त जानकारी को फोटो के साथ शेयर करते हुए युवक ने ट्विटर पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भी टैग किया। युवक ने लिखा कि कोरोना_महामारी में पापी पेट और सरकारी व्यवस्था को धत्ता बताती यह तस्वीर रातू रोड की है। सड़क पर इंसान तो नहीं है लेकिन एक मां अपने बच्चे को आंचल में लपेटे हुए सड़क किनारे खाना बनाती दिख रही है। मातृत्व को नमन...। इसके बाद मुख्यमंत्री ने रांची के डीसी को निर्देश दिया कि ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनकी रैनबसेरों में व्यवस्था करें। अन्य जिलों के उपायुक्त भी कृपया ऐसा करना सुनिश्चित करें।

एक ट्विटर हैंडल से फोटो शेयर कर मुख्यमंत्री को टैग कर लिखा गया कि ये पत्थल कुडवा, फूल बागान गली की फोटो है। लोग एलपीजी के चक्कर ने कोरोना के संक्रमण को बढ़ाने का खतरा मोल ले रहे है। त्वरित करवाई की जाए, यह भीड़ बढ़ती जा रही है। लोअर बाजार थाना के अंतर्गत ये क्षेत्र आता है। इसके बाद मुख्यमंत्री ने रांची के डीसी को मामले को त्वरित संज्ञान में लेकर उचित कार्रवाई कर सूचित करने का निर्देश दिया।

वहीं एक अन्य ट्वीट में मुख्यमंत्री को टैग कर जानकारी दी गई कि रांची के सिंहमोड़ स्थित अल्फा इंडा गैस एजेंसी के पास लोगों की भीड़ जुटी है। एजेंसी ने लॉकडाउन में गैस डिलीवरी से इनकार किया है। हमें गैस उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। इसके बाद मुख्यमंत्री ने रांची के डीसी को मामले को त्वरित संज्ञान में लेकर सूचित करने का निर्देश दिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना