• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Every Third Test Positive In Kolkata, In Jharkhand Only 6 Infected In Every 100, Experts Said As The Rate Of Increase In Cases, So Will It Decrease

शहरों में लहर विकराल:कोलकाता में हर तीसरा टेस्ट पॉजिटिव झारखंड में हर 100 में सिर्फ 6 संक्रमित,विशेषज्ञ बोले- जैसी रफ्तार केस बढ़ने की, वैसी ही घटने की होगी

रांची13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो

देश में शुक्रवार को 1.37 लाख नए मरीज मिले। कोरोना की तीसरी लहर भी दूसरी लहर की तरह शहरों से शुरू हुई है। लेकिन, इस बार संक्रमण फैलने की रफ्तार 5 गुना ज्यादा है। विशेषज्ञ आशंका जता रहे हैं कि तीसरी लहर अगले एक हफ्ते में दूसरे शहरों में भी विकराल हो सकती है, जैसा कि मुंबई और कोलकाता में अभी से दिख रहा है।

इन शहरों में रोज मिलने वाले मरीज दूसरी लहर के मरीजों से दोगुने हो चुके हैं। हर डेढ़ दिन में केस दोगुने हो रहे हैं। यह रफ्तार अगर एक हफ्ते तक बनी रही तो मुंबई में रोज 50 हजार से ज्यादा मरीज मिलने शुरू हो सकते हैं। कोलकाता में एक दिन में 6,569 मरीज मिले, जबकि दूसरी लहर के दौरान उच्चतम औसत स्तर 3,887 था।

सबसे चिंताजनक बात यह है कि कोलकाता में हर तीसरे टेस्ट में मरीज मिल रहे हैं। यानी 100 टेस्ट में 33 से 35 मरीज। वहीं झारखंड में दूसरी लहर में एक दिन में 5,961 मरीज मिले थे, जिनमें से 145 लोगाें की मौत हुई थी। लेकिन, अब 3,825 मरीज मिले और सिर्फ 8 मौतें हुई। यहां 100 सैंपल में सिर्फ 6 मरीज मिले हैं। वहीं पहली लहर में एक दिन में 3,218 मरीज मिले थे और 7 की मौत हुई थी।

सफदरजंग अस्पताल (दिल्ली) में मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर जुगल किशोर कहते हैं- ‘जितनी तेजी से मरीज बढ़ेंगे, उतनी ही तेजी से घटेंगे भी। क्योंकि, अगर किसी शहर या इलाके में हर तीसरा व्यक्ति संक्रमित मिलने लगा है तो जाहिर के कुछ दिन बाद संक्रमित होने के लिए कोई नहीं बचेगा, जैसा कि हम दूसरी लहर के दौरान देख चुके हैं। इस हिसाब से देखें तो कोलकाता में 8 से 10 दिन बाद नए केस घटने शुरू हो सकते हैं। दूसरी लहर के बाद हुए सीरो सर्वे में देश की 80% आबादी में एंटीबॉडी मिले थे। इतनी बड़ी आबादी के संक्रमित होने के बाद उम्मीद है कि दूसरी लहर का पीक 20-22 दिन में आ सकता है।

खबरें और भी हैं...