रिश्तेदारों को रौब दिखाने बनी फर्जी IAS:कटनी की मोनिका रांची से गिरफ्तार, खुद को बताती थी जमशेदपुर की असिस्टेंट कलेक्टर; माता-पिता ने पढ़ने के लिए दिल्ली भेजा था

कटनी/रांची4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोनिका अग्निहोत्री को गिरफ्त मे लेकर पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। - Dainik Bhaskar
मोनिका अग्निहोत्री को गिरफ्त मे लेकर पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

झारखंड पुलिस ने फर्जी IAS बनकर रांची की सबसे पॉश कॉलोनी में रह रही 24 साल की युवती को गिरफ्तार किया है। आरोपी का नाम मोनिका अग्निहोत्री है और वह मध्यप्रदेश के कटनी जिले के बड़वारा कला की रहने वाली है। शुरुआती जांच में सामने आया है कि मोनिका के माता-पिता ने उसे IAS की कोचिंग के लिए दिल्ली भेजा था, लेकिन वह परीक्षा पास नहीं कर पाई। इसके बाद वह अपने रिश्तेदारों को रौब दिखाने के लिए फर्जी आईएसएस बनकर रांची पहुंच गई।

गाड़ी पर भी लगा रखी थी फर्जी नेम प्लेट
मोनिका रांची के सबसे पॉश इलाके अशोकनगर में किराए के मकान में रहती थी। उसने मेन गेट पर अपने नाम की नेम प्लेट भी लगा रखी थी। नेम प्लेट में उसने खुद को जमशेदपुर की असिस्टेंट कलेक्टर बताया था। मोनिका जिस गाड़ी का इस्तेमाल कर रही थी, उस पर असिस्टेंट कलेक्टर, जमशेदपुर का बोर्ड लगा था।

CS को पत्र लिखकर कमरा मांगा
​​​​​​
जांच में सामने आया है कि दिल्ली में स्थित झारखंड भवन में मोनिका ने फर्जी लेटर हेड पर एक कमरा बुक कराया था। उसने कमरा बुक कराने के लिए मुख्य सचिव के नाम पत्र लिखा था, जिसे उसके कमरे से पुलिस ने जब्त किया है।

मां बोलीं- कोचिंग के लिए दिल्ली भेजा था
मोनिका की मां पुष्पलता अग्निहोत्री का कहना है कि उन्होंने बेटी को IAS की कोचिंग के लिए दिल्ली भेजा था, वह रांची कैसे पहुंच गई नहीं पता। उसके पिता शेषमणि अग्निहोत्री ने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया है। उसके पिता बड़वारा के शासकीय स्कूल में प्रधानाध्यापक और मां उसी स्कूल में लिपिक हैं।

खबरें और भी हैं...