डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी यूनिवर्सिटी:छात्राें के बीच मारपीट, शाेकाॅज में सभी का जवाब- हम ताे बचाने गए थे

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रजिस्ट्रार से मिलकर छात्रों ने की पुलिस पिकेट स्थापित करने की मांग। - Dainik Bhaskar
रजिस्ट्रार से मिलकर छात्रों ने की पुलिस पिकेट स्थापित करने की मांग।

डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी यूनिवर्सिटी (डीएसपीएमयू) में चार दिन पहले प्रॉक्सी अटेंडेंस का विरोध करने पर बीकॉम के छात्रों के साथ जमकर मारपीट हुई थी। कैंपस में ही चेन और रॉड से हमला किया था, जिसके कारण एक छात्र का सिर फट गया था। तीन छात्रों को चोट आई थी।

इस मामले में विवि प्रशासन द्वारा थाने में अज्ञात लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी समेत सीसीटीवी में दिख रहे पांच छात्रों को शोकॉज जारी कर दो दिन में जवाब देने के लिए कहा था। सोमवार को आरोपी छात्रों ने जवाब दे दिया है। इनका कहना था कि जब बाहरी लोग मारपीट कर रहे थे, तो हम बचाने और बीच-बचाव कर रहे थे। लेकिन, मेरा नाम मेरा दे दिया गया। सभी आरोपी छात्रों के जवाब मिलते-जुलते हैं।

डीएसडब्ल्यू डॉ. एके महतो ने बताया कि अब यह मामला यूनिवर्सिटी के डिसिप्लिन कमेटी में रखा जाएगा। बताते चलें कि डिसिप्लिन कमेटी इस मामले कार्रवाई पर अंतिम निर्णय लेगी। गौरव मिश्रा, गौरव कुमार झा, आयुष आनंद, शिवम कुमार और आयुष कुमार को शोकॉज किया गया था। रजिस्ट्रार डॉ. नमिता सिंह से सोमवार को छात्र आजसू का प्रतिनिधिमंडल अभिषेक झा के नेतृत्व में मिला और कहा कि बहुत पहले से पुलिस पिकेट स्थापित करने की मांग की जा रही है।

पुलिस को उपलब्ध कराया सीसीटीवी फुटेज : बीकॉम छात्रों के साथ मारपीट की घटना सीसीटीवी में कैद हो गया था। प्रॉक्टर डॉ. पंकज कुमार और डीएसडब्ल्यू डॉ. अशोक महतो ने सीसीटीवी फुटेज देखा है। इसके बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन द्वारा लालपुर थाने को मारपीट की घटना का फुटेज उपलब्ध करा दिया गया है।

खबरें और भी हैं...