6000 छात्रों का नामांकन अधर में:बीएड में एडमिशन के लिए स्नातक एपियरिंग स्टूडेंट्स को नॉट एलिजिबल लिस्ट में डाला

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जेसीईसीबी के सामने स्टूडेंट्स ने धरना देकर न्याय की मांग की - Dainik Bhaskar
जेसीईसीबी के सामने स्टूडेंट्स ने धरना देकर न्याय की मांग की
  • विभाग ने कहा- सात दिनों में स्टूडेंट्स हित में उचित निर्णय लिया जाएगा
  • जेसीईसीबी के अधिकारियाें ने कहा- विद्यार्थियों का स्नातक का अंक पत्र अपलोड नहीं है
  • अभ्यर्थियों ने कहा- अंक पत्र अपलोड करने का ऑप्शन नहीं आया

झारखंड संयुक्त प्रवेश परीक्षा पर्षद (जेसीईसीबी) द्वारा काउंसिलिंग के माध्यम से राज्य के 136 बीएड कॉलेजों में एडमिशन लिया जाता है। स्नातक के एपियरिंग स्टूडेंट्स को भी एडमिशन प्रक्रिया में शामिल होने का मौका दिया जाता है। लेकिन, इस साल एपियरिंग स्टूडेंट्स का रिजल्ट आने के बाद भी बीएड काउंसिलिंग प्रक्रिया में शामिल नहीं किया गया है। इन छात्रों के आवेदन को नोट एलिजिबल लिस्ट में डाल दिया गया है। इस कारण एपियरिंग स्टूडेंट्स में काफी नाराजगी है।

विरोध में एनएसयूआई के प्रदेश उपाध्यक्ष इंद्रजीत सिंह के नेतृत्व में नाराज छात्रों ने धरना दिया और काउंसिलिंग में शामिल करने की मांग को लेकर नारेबाजी की। इधर, छात्रों के धरना के बाद उच्च शिक्षा विभाग ने कहा है कि सात दिनों के अंदर एपियरिंग छात्रों के मामले में समुचित निर्णय ले लिया जाएगा। इसके बाद छात्रों का धरना समाप्त हो गया। बताते चलें कि लगभग 6000 स्नातक एपियरिंग छात्रों ने फाॅर्म जमा किया था।

दो काउंसिलिंग अब तक हो चुकी है
जेसीईसीबी द्वारा बीएड कोर्स में एडमिशन के लिए अब तक दो काउंसिलिंग हो चुकी है। फर्स्ट काउंसिलिंग में इन छात्रों में किसी का नाम नहीं आया। अभ्यर्थियों ने बताया कि जब इस संबंध में जेसीईसीबी के अधिकारियाें से संपर्क किया तो बताया गया कि स्नातक का अंक पत्र अपलोड नहीं है।

एडिट करते समय ऑप्शन नहीं : अभ्यर्थियों ने बताया कि दूसरी बार काउंसिलिंग में एडिट करने का मौका जेसीईसीबी द्वारा दिया गया। लेकिन, एडिट करते समय अंक पत्र अपलोड करने का ऑप्शन नहीं आया। इस कारण दूसरी बार भी नोट एलिजिबल लिस्ट में इन अभ्यर्थियों का नाम चला गया।

शिक्षामंत्री ने भी की थी पहल
प्रभावित छात्र एक सप्ताह पहले शिक्षामंत्री से मिलकर इस मामले की ओर ध्यान आकृष्ट कराया था। शिक्षामंत्री ने तत्काल उच्च शिक्षा निदेशक से बात कर समस्या का समाधान करने के लिए कहा था। इसके बाद भी इस ओर ध्यान नहीं दिया गया।

तीसरी काउंसिलिंग में मौका!
एपियरिंग छात्रों को जेसीईसीबी की तीसरी काउंसिलिंग में शामिल होने का मौका मिल सकता है। उच्च शिक्षा विभाग ने सात दिनों में छात्रहित में निर्णय लेने की बात कही है। छात्रों ने कहा कि न्याय नहीं मिला तो उग्र आंदोलन होगा।

खबरें और भी हैं...