• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • For The First Time In Jharkhand, Such A Change In The VC Appointment Process, The Governor Dissolved The Existing Search Committee; VC's Panel Will Decide The New Committee

भास्कर ब्रेकिंग:झारखंड में पहली बार वीसी नियुक्ति प्रक्रिया के बीच ऐसा बदलाव, राज्यपाल ने भंग की मौजूदा सर्च कमेटी; नई कमेटी तय करेगी वीसी का पैनल

रांची2 महीने पहलेलेखक: अमरेंद्र कुमार
  • कॉपी लिंक
  • सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज की अध्यक्षता में बनी नई कमेटी
  • पांच यूनिवर्सिटी के वीसी और प्रोवीसी का पैनल चुनेगी
  • राज्यपाल नियुक्ति से पहले मुख्यमंत्री की सलाह भी लेंगे

झारखंड में विश्वविद्यालयाें के कुलपति (वीसी) और प्रतिकुलपति ( प्रोवीसी) की नियुक्ति अब नई सर्च कमेटी करेगी। राज्यपाल रमेश बैस ने नियुक्ति प्रक्रिया के बीच में ही झारखंड हाईकाेर्ट के जस्टिस अपरेश सिंह की अध्यक्षता वाली सर्च कमेटी काे खत्म कर दिया है। इसकी जगह सुप्रीम काेर्ट के रिटायर्ड जज अनिल रमेश दवे की अध्यक्षता में नई सर्च कमेटी बनाई है। इसमें नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रीयल इंजीनियरिंग (एनआईटीआईई) मुंबई के प्राेफेसर डाॅ. डीके श्रीवास्तव काे सदस्य बनाया गया है। राज्यपाल के ओएसडी (ज्युडिशियल) काे-ऑर्डिनेटर हाेंगे।

राजभवन ने सरकार से कमेटी के लिए उनके प्रतिनिधि का नाम मांगा है। लेकिन एक सप्ताह बाद भी अभी राजभवन काे नाम नहीं भेजा गया है। जानकारी के मुताबिक उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग ने सरकार का प्रतिनिधि अधिकारी तय करने के लिए फाइल बढ़ाई है।

नई व्यवस्था के तहत इंटरव्यू भी नहीं होगा, 5 यूनिवर्सिटी में 4 वीसी और 2 प्रोवीसी की हाेनी है नियुक्ति

राज्य के 5 विश्वविद्यालयाें में 4 वीसी और 2 प्राेवीसी के पद खाली हैं। रांची विश्वविद्यालय, जमशेदपुर महिला विवि, बिनाेद बिहारी महताे काेयलांचल विवि धनबाद और डाॅ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय रांची में वीसी की नियुक्ति हाेनी है। वहीं सिदाे-कान्हू मुर्मू विश्वविद्यालय दुमका और बिनाेद बिहारी महताे काेयलांचल विश्वविद्यालय में प्राेवीसी की बहाली हाेगी।

चयन प्रक्रिया: नई कमेटी पुराने आवेदनाें से ही बनाएगी नया पैनल

करीब छह माह पहले तत्कालीन राज्यपाल द्राैपदी मुर्मू ने जस्टिस अपरेश सिंह की अध्यक्षता में सर्च कमेटी बनाई थी। इसमें कार्मिक सचिव वंदना डाडेल और महात्मा गांधी विश्वविद्यालय के कुलपति प्राे. गिरिश्वर मिश्र काे शामिल किया गया था।

इस कमेटी ने वीसी और प्राेवीसी के खाली पदाें के लिए 26 जुलाई तक आवेदन मांगा था। 100 से अधिक आवेदन आए। कमेटी ने 21 नवंबर से 23 नवंबर तक इंटरव्यू का कार्यक्रम तय किया था। लेकिन अचानक अपरिहार्य कारणाें का हवाला देकर इसे स्थगित कर दिया गया। इसके बाद ही राज्यपाल ने नई सर्च कमेटी का गठन किया। यह कमेटी पुराने आवेदनाें से ही नया पैनल बनाएगी।

खास क्या : दाेनाें पदाें के लिए अधिकतम उम्र सीमा 65 साल

वीसी की नियुक्ति के लिए किसी विश्वविद्यालय में 10 साल तक प्राेफेसर के रूप में काम करने या किसी शाेध या शैक्षणिक संस्थान में इतनी ही अवधि तक एकेडमिक लीडर के रूप में काम करने का अनुभव अनिवार्य है। साथ ही ख्यातिप्राप्त शिक्षाविद हाेना भी जरूरी है। उच्चतम स्तर की याेग्यता, अखंडता, नैतिकता और संस्थागत प्रतिबद्धता भी नियुक्ति प्रक्रिया में अहम मानी जाती है। वहीं प्राेवीसी के लिए भी किसी विश्वविद्यालय में पूर्णकालिक प्राेफेसर हाेना जरूरी है। दाेनाें पदाें पर नियुक्ति के लिए अधिकतम उम्र सीमा 65 साल (विज्ञापन जारी होने की तिथि तक) है।

खबरें और भी हैं...