शैडो स्पीकर की भूमिका:झारखंड विस में पहली बार छात्र संसद, दर्शक दीर्घा में होंगे सीएम-विधायक

रांची15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रेस वार्ता में स्पीकर और मंत्री मिथिलेश ठाकुर। - Dainik Bhaskar
प्रेस वार्ता में स्पीकर और मंत्री मिथिलेश ठाकुर।
  • 31 अक्टूबर काे राज्य के 24 छात्र 5 विषयों पर करेंगे मंत्रणा

झारखंड विधानसभा में पहली बार 31 अक्टूबर को छात्रों की संसद बैठेगी। उस समय दर्शक दीर्घा में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन समेत राज्य के सभी मंत्री और विधायक होंगे। विधानसभा अध्यक्ष रवींद्र नाथ महतो शैडो स्पीकर की भूमिका में होंगे। पूरे राज्य से चुन कर आए 24 छात्रों में से 12 सत्ता पक्ष और 12 विपक्ष में बैठेंगे। इस दौरान विधेयक भी लाया जाएगा। छात्रों को विधानसभा के संचालन के बारे मेें सभी जानकारियां दी जाएंगी।

वे विधायी कार्यों से परिचित होते हुए पांच विभिन्न विषयों पर मंत्रणा करेंगे। विधानसभा अध्यक्ष रवींद्र नाथ महतो ने मंगलवार को आयोजित प्रेस वार्ता में इस आयोजन के उद्देश्य के बारे में जानकारी दी। बताया कि हम नई पीढ़ी को संसदीय व्यवस्था और उसके होनेवाले लाभ से परिचित कराना चाहते हैं। पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि यह एक नई पहल है। यह भविष्य के लिए हितकारी और सार्थक होगा।

छात्र संसद की मंत्रणा में ये विषय शामिल : जलवायु परिवर्तन के प्रभाव और उसके निदान के उपाय, राज्य की खनिज संपदा का उत्खनन और पर्यावरण संबंधी चुनौतियां, 75 वर्षों के आईने में भारतीय लोकतंत्र, झारखंड की वन संपदा एवं उसके संरक्षण के उपाय तथा पर्यावरण संरक्षण की वर्तमान कानूनी व्यवस्था और इसका संवर्धन।

कल तक राज्य के सभी विवि के लिए नियुक्त हो जाएंगे नोडल असर
8 अक्टूबर तक सभी विश्वविद्यालयों के लिए नोडल पदाधिकारियों की नियुक्ति हो जाएगी। विधानसभा की ओर से इन विश्वविद्यालयों को निर्देश दिया गया है कि वे हर जिले से दो छात्रों का चयन करें। उनसे उल्लेखित पांच विषयों पर आलेख मांगंे। इन छात्रों को 25 अक्टूबर को वेबिनार के माध्यम से संसदीय कार्य से अवगत कराया जाएगा। 27 अक्टूबर को ये सभी छात्र विधानसभा में अपनी-अपनी प्रस्तुति देंगे। इनमें से 24 छात्र चुने जाएंगे। ये चयनित छात्र 31 अक्टूबर को छात्र संसद का हिस्सा होंगे।

खबरें और भी हैं...