अब मुआवजे पर केंद्र vs राज्य:कांग्रेस ने कहा- कोरोना के मुआवजे से बच रही है केंद्र सरकार, राज्य सरकार मृतक के आश्रितों को देगी 1 लाख रुपए

रांची10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में राजेश ठाकुर ने बताया कि उन्होंने CM हेमंत सोरेन से मांग की है कि राज्य सरकार के हिस्से की राशि का भुगतान शीघ्र किया जाए ताकि केंद्र पर मुआवजे की राशि भुगतान का दबाव बनाया जा सके। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में राजेश ठाकुर ने बताया कि उन्होंने CM हेमंत सोरेन से मांग की है कि राज्य सरकार के हिस्से की राशि का भुगतान शीघ्र किया जाए ताकि केंद्र पर मुआवजे की राशि भुगतान का दबाव बनाया जा सके। (फाइल फोटो)

झारखंड में अब कोरोना के मुआवजे पर राजनीति शुरू हो गई है। झारखंड प्रदेश कांग्रेस ने केंद सरकार पर गंभीर आरोप लगाया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दीपक ठाकुर ने बुधवार को कहा कि केंद्र सरकार कोरोना से जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को मुआवजा देने से बच रही है।

उन्होंने कहा कि नेशनल डिजास्टर एक्ट के तहत राष्ट्रीय आपदा में मुआवजे की 75% राशि केंद्र सरकार देती है और 25% राशि राज्य सरकार देती है। झारखंड सरकार 1 लाख रुपए देने के लिए तैयार है लेकिन केंद्र पहले 4 लाख रुपए का घोषणा कर अब 50 हजार रुपए देने की बात कर रही है।

कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में राजेश ठाकुर ने बताया कि उन्होंने CM हेमंत सोरेन से मांग की है कि राज्य सरकार के हिस्से की राशि का भुगतान शीघ्र किया जाए ताकि केंद्र पर मुआवजे की राशि भुगतान का दबाव बनाया जा सके।

12 दिसंबर को महंगाई हटाओ रैली का आयोजन
कांग्रेस 12 दिसंबर को रांची में महंगाई हटाओ रैली का आयोजन करेगी। प्रदेश कांग्रेस अध्ययक्ष ने कहा कि महंगाई से राज्य भर में लोग त्रस्त हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ इस रैली का आयोजन किया जा रहा है।