पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

झारखंड के CM का PM को पत्र:हेमंत सोरेन ने लिखा- राज्य में 6 वर्ष तक का हर दूसरा बच्चा कुपोषित, इसके लिए आवंटित 312 करोड़ दिलवा दीजिए, हम इन्हें बेहतर पोषाहार देना चाहते हैं

रांची23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हेमंत सोरेन ने अपने पत्र में लिखा है कि आयोग की तरफ से  312 करोड़ रुपए झारखंड के लिए आवंटित करने की अनुशंसा की गई है।  - Dainik Bhaskar
हेमंत सोरेन ने अपने पत्र में लिखा है कि आयोग की तरफ से 312 करोड़ रुपए झारखंड के लिए आवंटित करने की अनुशंसा की गई है। 

झारखंड के CM हेमंत सोरेन ने सोमवार को PM नरेंद्र मोदी के नाम पत्र लिखा है। इसमें इन्होंने 15वें वित्त आयोग की ओर से झारखंड के लिए वर्ष 2020-21 में अनुशंसित 312 करोड़ रुपए राशि की मांग की है। उन्होंने PM से आग्रह किया है कि इस राशि को विमुक्त करने के लिए वे महिला, बाल विकास मंत्रालय को निर्देशित करें।

हेमंत सोरेन ने अपने पत्र में कहा है कि झारखंड में 0-6 वर्ष के ऊपर का प्रत्येक दूसार बच्चा कुपोषण का शिकार है। अगर केंद्र से 312 करोड़ रुपए मिल जाता है तो कुपोषण से जंग लड़ रहे अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति बाहुल्य राज्य को काफी सहयोग मिलेगा।

CM ने अपने पत्र में PM का ध्यान आकृष्ट कराते हुए लिखा है कि 15वें वित्त आयोग में पूरक पोषाहार कार्यक्रम में देश के विभिन्न राज्यों के लिए समान्य आवंटन के अतिरिक्त 7,735 करोड़ करोड़ रुपए अतिरिक्त आवंटन की अनुशंसा की गई है । आयोग की तरफ से इनमें से 312 करोड़ रुपए झारखंड के लिए आवंटित करने की अनुशंसा की गई है।

CM ने 5 बिन्दुओं में बताया है क्यों जरूरी है ये राशि
1. झारखंड में 0-6 वर्ष के बच्चों में प्रत्येक दूसरा बच्चा कुपोषण का शिकार है ।
2. 45% बच्चे मानक से कम वजन के हैं।
3. 29% बच्चे दुबले-पतले होते हैं।
4. 11.3 बच्चे अत्यंत कुपोषण के शिकार हैं।
5. 40.3% बच्चे अल्प विकसित हैं।

खबरें और भी हैं...