पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

झारखंड सरकार पर वार:भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा- राज्य में महिलाओं के प्रति बढ़ रहे हैं अपराध, मुख्यमंत्री पंडाल में कर रहे पूजा

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रेसवार्ता के दौरान मौजूद प्रवीण सिंह और दीपक प्रकाश। दीपक प्रकाश ने कहा कि ठग-बंधन सरकार के खिलाफ हम सिर्फ दो उपचुनाव के लिए साथ नहीं आए हैं, हमार संबंध नैसर्गिक रहा है। हम वंशवाद वाली सरकार (झामुमो, राजद, कांग्रेस) के जनविरोधी नीतियों के खिलाफ मिलकर संघर्ष करेंगे।
  • दीपक प्रकाश ने राज्य की आर्थिक स्थिति, ट्रांसफर पोस्टिंग और संथाल में बदहाल सड़कों पर भी सवाल उठाए
  • दीपक प्रकाश ने जनता दल यूनाइटेड के साथ प्रदेश में गठबंधन का एलान किया

झारखंड भाजपा के अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने शनिवार को राज्य में महिलाओं की स्थिति, राज्य की आर्थिक स्थिति, ट्रांसफर पोस्टिंग और संथाल परगना में सड़कों की बदहाल स्थिति को लेकर झामुमो सरकार ने जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि राज्य में महिलाओं और बच्चियों की अस्मिता पर हमले हो रहे हैं और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पंडालों में पूजा कर रहे हैं लेकिन पीड़ित महिलाओं, बच्चियों और उनके परिवार के आंख के आंसू नहीं पोंछ पा रहे हैं न हीं उनसे एक शब्द बोलने की हिम्मत जुटा पा रहे हैं। दीपक प्रकाश रांची स्थित जदयू के कार्यालय में प्रेसवार्ता को संबोधित कर रहे थे।

प्रेसवार्ता के दौरान बेरमो और दुमका उपचुनाव को लेकर भाजपा और जदयू के गठबंधन का औपचारिक ऐलान किया गया। प्रेसवार्ता के दौरान मौजूद जदयू के राष्ट्रीय महासचिव प्रवीण सिंह ने कहा कि जदयू एनडीए का सबसे बड़ा घटक दल है। भाजपा की ओर से समर्थन के लिए प्रस्ताव आया था। इसके बाद जदयू के शीर्ष नेतृत्व ने बैठक कर फैसला लिया कि झारखंड में भी भाजपा के उम्मीदवारों का समर्थन करना है। बिहार में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव लड़ा जा रहा है और हमारा गठबंधन है तो झारखंड में भी हम गठबंधन करेंगे। बीच में हमलोगों के बीच अलगाव हो गया था लेकिन अब हमने फैसला किया है उपचुनाव में जदयू भाजपा को समर्थन देगी। वहीं दीपक प्रकाश ने कहा कि ठग-बंधन सरकार के खिलाफ हम सिर्फ दो उपचुनाव के लिए साथ नहीं आए हैं, हमार संबंध नैसर्गिक रहा है। हम वंशवाद वाली सरकार (झामुमो, राजद, कांग्रेस) के जनविरोधी नीतियों के खिलाफ मिलकर संघर्ष करेंगे।

दीपक प्रकाश ने कहा- मुख्यमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़े
दीपक प्रकाश ने कहा कि वर्तमान में झारखंड में राजनीतिक परिस्थिति बहुत ही भयावह है। हम कह सकते हैं कि कानून का कोई स्थान नहीं है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को न्यायालय पर विश्वास नहीं है। उन्हें संवैधानिक संस्थाओं पर विश्वास नहीं है। वे जिस क्षेत्र से निर्वाचित हुए हैं वहां आदिवासी महिलाओं पर घटनाएं घट रही है। दलित महिलाओं के साथ पुलिस का व्यवहार ठीक नहीं है। 15 साल की लड़की के साथ रेप की घटना को ये (सत्ता पक्ष) दबाना चाहते थे लेकिन भाजपा और एनडीए गठबंधन के दबाव के चलते ये मामला सार्वजनिक हुआ था। 22 अक्टूबर को ही एक ऐसी ही घटना वहां घटी है जिसे दबाने का प्रयास किया जा रहा है। ये किसके इशारों पर हो रहा है ये स्पष्ट है।

मिर्जाचौकी में हुई गैंगरेप की घटना पर दीपक प्रकाश ने कहा कि मुख्यमंत्री या फिर सरकार में बैठे एक भी व्यक्ति ने पीड़िता के परिजनों के आंख के आंसू को पोंछने का काम नहीं किया। उन्होंने कहा कि मैं दलगत राजनीति से ऊपर उठकर मीडिया से अपील कर रहा हूं कि आप महिलाओं के प्रति हो रहे अपराध को लेकर सरकार को दर्पण दिखाने का काम करें। महिलाओं के सुरक्षा के सवाल पर सभी को एकजुट होकर लड़ने की आवश्यकता है। दीपक प्रकाश ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पूजा पंडाल में जा रहे हैं, पूजा कर रहे हैं लेकिन महिलाओं और बेटियां जो कराह रही हैं, उनसे एक भी शब्द बोलने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं।

बजट का सिर्फ 20 फीसदी खर्च करती है झामुमो सरकार: दीपक प्रकाश
दीपक प्रकाश ने कहा कि राज्य आर्थिक अराजकता की ओर जा रहा है। इसके लिए मुख्यमंत्री और उनकी सरकार दोषी है। उन्होंने कहा कि जो सरकार अपने बजट का मात्र 20 फीसदी खर्च करती है उसे एक भी दिन सत्ता में बैठे रहने का अधिकार नहीं है। हेमंत सरकार केंद्र सरकार पर सवाल खड़ा कर रही है, ऐसा इसलिए कि राज्य सरकार को खुद पर भरोसा नहीं है। जो अपने बजट का उपयोग नहीं कर पा रहे हैं, जनता का ध्यान भटकाने के लिए केंद्र सरकार पर आरोप लगा रहे हैं।

ट्रांसफर-पोस्टिंग पर भी दीपक प्रकाश ने उठाए सवाल
ट्रांसफर पोस्टिंग के संदर्भ में दीपक प्रकाश ने कहा कि जब से हेमंत सरकार आई है राज्य में 2200 ट्रांसफर हो चुके हैं। कोरोना काल में इतने ज्यादा मात्रा में ट्रांसफर करना अतिरिक्त आर्थिक बोझ की निशानी है। एक तरफ आर्थिक कमियों का रोना रोया जा रहा है और दूसरी तरफ 2200 ट्रांसफर किया जा रहा है, ऐसा क्यों हो रहा है, मुझसे बेहतर आप समझते हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में डीएसपी के ट्रांसफर का अधिकार मुख्यमंत्री को है। एक दिन में ट्रांसफर लेटर जारी होता है और छह घंटे के बाद वह वापस हो जाता है।

संथाल में बालू और स्टोन चिप्स का हो रहा है अवैध कारोबार
दीपक प्रकाश ने कहा कि दुमका समेत संथाल परगना के सड़कों की हालत बदतर हो गई है। ऐसा इसलिए क्योंकि वहां बालू की तस्करी हो रही है। बालू की तस्करी से मिली अवैध राशि झारखंड मुक्ति मोर्चा के आमदनी का स्त्रोत बन रहा है। उन्होंने कहा कि स्टोन चिप्स का भी अवैध कारोबार संथाल परगना में चल रहा है। वहां 725 अवैध क्रशर हैं जिनका लीज सरकार की ओर नहीं दिया गया है। इन सब अवैध कारोबार के संरक्षण झारखंड मुक्ति मोर्चा और सरकार के लोग हैं। उन्होंने कहा कि बासुकीनाथ से दुमका आने में आधे घंटे लगते थे लेकिन आज डेढ़ से दो घंटे लग रहे हैं। दुमका से साहेबगंज जाने में डेढ़ घंटा समय लगता था अब तीन घंटा का समय लग रहा है। ओवरलोडिंग ट्रक के चलते ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें