काेर्ट ने सरकार से जवाब मांगा:विनय महतो हत्याकांड की जांच से हाईकोर्ट संतुष्ट नहीं, कहा-क्यों न सीबीआई को सौंप दें

रांची12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • परिजनों का आरोप-पुलिस सही ढंग से नहीं कर रही जांच

सफायर इंटरनेशनल स्कूल के छात्र विनय महताे हत्याकांड में हाईकाेर्ट ने सख्त टिप्पणी की है। जस्टिस संजय कुमार द्विवेदी की काेर्ट ने कहा-जांच रिपाेर्ट देखकर लगता है कि इसमें कई खामियां हैं। पुलिस ने जांच सही नहीं की है। किसी काे बचाने की काेशिश की जा रही है। काेर्ट ने सरकार से पूछा कि क्याें न यह मामला सीबीआई काे दे दिया जाए। यही नहीं, झारखंड के ऐसे सारे मामलाें की जांच सीबीआई काे साैंप देनी चाहिए।

काेर्ट ने सरकार से शपथ पत्र के माध्यम से जवाब मांगा। अगली सुनवाई अब 18 नवंबर काे हाेगी। विनय के पिता मनबहाल महताे ने याचिका दायर की सीबीआई जांच की मांग की है। याचिका में कहा गया है कि पुलिस ने सही तरीके से जांच नहीं की। कई चीजें सीज की गई थीं। याचिकाकर्ता की वकील खुशबू कटारूका ने काेर्ट काे बताया कि लाेअर काेर्ट ने पहले ही कहा था कि सही तरीके से साक्ष्य नहीं जुटाया गया है।

इस मामले में शिक्षक और वार्डन सहित 10 लाेगाें काे आराेपी बनाया गया था। जुवेनाइल काेर्ट ने दाे आराेपियाें काे बरी कर दिया है। सुनवाई के दाैरान लाेअर काेर्ट और जुवेनाइल काेर्ट ने भी कहा था कि जांच सही तरीके से नहीं हुई और साक्ष्य का भी अभाव है। गाैरतलब है कि सफायर इंटरनेशनल स्कूल में 5 फरवरी 2016 काे छात्र विनय महताे की हत्या कर दी गई थी।

खबरें और भी हैं...