पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनियमितता की प्रारंभिक जांच:काेल ब्लॉक आंवटन घो टाले में हाेटल ली-लैक के मालिक विनय प्रकाश दाेषी करार

रांची4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीबीआई की विशेष अदालत ने सुनाया फैसला, आज सजा पर सुनवाई
  • डोमको कंपनी के दाे निदेशक और चार्टर्ड अकाउंटेंट भी दाेषी

झारखंड के वेस्ट बाेकाराे काेलफील्ड स्थित लालगढ़ उत्तरी काेल ब्लाॅक आवंटन घाेटाले में सीबीआई की दिल्ली स्थित विशेष अदालत के जज अरुण भारद्वाज ने मंगलवार काे पांच आराेपियाें काे दाेषी ठहराया। इनमें रांची की कंपनी मेसर्स डाेमकाे प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक विनय प्रकाश, दाे निदेशकाें बसंत दिवाकर मांजरेकर व परमानंद मंडल और काेलकाता के चार्टर्ड अकाउंटेंट संजय खंडेलवाल शामिल हैं। विनय प्रकाश रांची स्थित हाेटल ली-लैक के मालिक भी हैं। इनकी सजा के बिंदुओं पर बुधवार काे सुनवाई हाेगी। इसी मामले में एक अन्य चार्टर्ड अकाउंटेंट मनाेज कुमार गुप्ता काे काेर्ट ने सबूत न मिलने पर बरी कर दिया है।

19 सदस्यों वाली स्क्रीनिंग कमेटी की अनुशंसा पर दिया गया था कोल ब्लॉक

सीबीआई ने वर्ष 1993 से 2005 के बीच कोल ब्लॉक आवंटन में हुई अनियमितता की प्रारंभिक जांच और सतर्कता आयाेग के निर्देश पर एफआईआर दर्ज की थी। जांच के दाैरान खुलासा हुआ था कि लालगढ़ उत्तरी काेल ब्लाॅक 19 सदस्यीय स्क्रीनिंग कमेटी की अनुशंसा पर डाेमकाे प्रा. लि. काे मिला था। बाद में विनय प्रकाश पर आराेप लगा कि उन्हाेंने अज्ञात लाेगाें के साथ षड्यंत्र रचकर कैप्टिव काेल ब्लाॅक के आवंटन के लिए संबंधित अधिकारियाें काे गलत सूचनाएं दीं। मामले की जांच के बाद 22 दिसंबर 2015 काे आराेपियाें के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की गई थी। इस मामले में फैसला सुनाते हुए काेर्ट ने मंगलवार काे इन सभी काे दाेषी करार दिया। सीबीआई ने चार्जशीट में कहा था कि कंपनी ने काेयला मंत्रालय और इस्पात मंत्रालय काे कैप्टिव काेल ब्लाॅक के वंटन के लिए आवेदन दिया था।

ईडी ने की थी छह कराेड़ की संपत्ति अटैच
कंपनी ने काेल ब्लाॅक आवंटित हाेने के बाद भारी मुनाफा कमाया। आराेप है कि विनय प्रकाश ने कंपनी के शेयर बेचकर सात कराेड़ रुपए का मुनाफा कमाया। इसी सिलसिले में रांची स्थित प्रवर्तन निदेशालय ने भी उनके खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की थी। इसमें उनकी पत्नी काे भी अभियुक्त बनाया गया था। ईडी ने इस मामले में कंपनी की छह कराेड़ रुपए की संपत्ति भी अटैच की थी।

खबरें और भी हैं...