पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • If Corona Is Found Then Neither Oximeter Will Be Available In The Market Nor Oxygen, Neither Bed Is Available In Hospital Nor Place In Crematorium

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अब तो डरिए:कोरोना हो गया तो बाजार में न ऑक्सीमीटर मिलेगा न ऑक्सीजन, हॉस्पिटल में न बेड मिल रहा और न ही श्मशान में जगह

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ऑक्सीजन खरीद कर बाइक से ले जाते लोग। - Dainik Bhaskar
ऑक्सीजन खरीद कर बाइक से ले जाते लोग।
  • ऑक्सीमीटर की हो रही कालाबाजारी, सैनेटाइजर, मास्क, ग्लब्स और दवाइयों में मुनाफाखोरी, एजेंसी ने ऑक्सीजन देने से हाथ खड़े किए

राजधानी के कोरोना संक्रमितों में ब्रिटेन का कोरोना स्ट्रेन मिले हैं। यह स्ट्रेन तेजी से लोगों को संक्रमित कर रहा है और फेफड़ा तेजी से खराब कर रहा है। इस वजह से संक्रमितों को तुरंत हाई फ्लो ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है। इसके बावजूद लोग लापरवाही कर रहे हैं। बिना मास्क के घूम रहे हैं या कोरोना को हल्के में ले रहे हैं। यह जानलेवा है। क्योंकि, कोरोना से बचाने के सारे निजी और सरकारी इंतजाम फेल हो चुके हैं।

शरीर का ऑक्सीजन लेवल जांचने के लिए बाजार में ऑक्सीमीटर नहीं मिल रहा है। कुछ मेडिकल स्टोर्स में ऑक्सीमीटर मिल भी रहा तो दोगुने दाम पर। ऑक्सीजन की जरूरत पड़ने पर ऑक्सीजन सिलिंडर नहीं मिल रहा है। शहर के अधिकतर हॉस्पिटलों में जाने पर वहां बेड नहीं मिल रहा है। यदि संयोगा से कहीं बेड मिल भी गया तो डॉक्टर और नर्स ढंग से देख नहीं रहे हैं। ऐसे बदतर हालात में अगर किसी की मौत हो गई, तो श्मशान या कब्रिस्तान कहीं भी जगह नहीं मिल रही है। अंतिम क्रिया के लिए भी लंबा इंतजार करना पड़ रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री, स्वास्थ्य सचिव व डीसी स्थिति नियंत्रण में करने का दावा कर रहे, पर हकीकत कुछ और बयां कर रही

एक ओर स्वास्थ्य मंत्री, स्वास्थ्य सचिव और रांची डीसी स्थिति नियंत्रण में करने का दावा कर रहे हैं, लेकिन दूसरी ओर सच्चाई पूरी तरह अनियंत्रित हो चुकी है। बाजार में खुलेआम ऑक्सीमीटर में मुनाफाखोरी हो रही है। मॉल नहीं आने का हवाला देकर ग्राहकों को लौटाया जा रहा है। मास्क, ग्लब्स और सेनिटाइजर में मुनाफाखोरी हो रही है। आम लोग बचने की ललक में लूटे जा रहे हैं, लेकिन पूरा प्रशासन चैन की नींद सो रहा है। दैनिक भास्कर ने एक संक्रमित मरीज के लिए पूरे सिस्टम की पड़ताल की, तो चौंकाने वाले हालात सामने आए, इसे स्टेप बाय स्टेप आप भी समझिए ....

  • मुकेश कुमार को तीन दिनों से बुखार, खांसी और सर्दी है। कोरोना के शक में जांच कराने के लिए निजी लैब संचालकों से संपर्क किया तो कोई घर आकर सैंपल लेने के लिए तैयार नहीं हुआ। सदर में पूछने पर चार से पांच दिन बाद रिपोर्ट आने की बात कही गई। फिर प्राइवेट लैब में जाकर दो दिन पहले सैंपल दिया, लेकिन 48 घंटे बाद भी रिपोर्टर नहीं आई।
  • ऑक्सीमीटर, स्टीम इनहेलर व दवाइयां लेने गया तो श्रद्धानंद रोड के अधिकतर होलसेलर ने ऑक्सीमीटर आउट ऑफ स्टॉक बातया। अल्बर्ट एक्का चौक के पास चार मेडिकल स्टोर्स में ऑक्सीमीटर मिला, लेकिन 2400 रु. से कम नहीं। एमजी रोड के कुछ मेडिकल स्टोर्स में 1200 में मिलने वाला ऑक्सीमीटर 1800 से 2200 में मिल रहा है। स्टीम इनहेलर 250 में मिलता था, अब 350 से 400 रुपए लिए जा रहे। कोरोना के लिए सुझाए गए डॉक्सीसायक्लीन 100 एमजी, पारासिटामोल, विटामिन सी टैब, जिंक प्रिंट रेट में मिली।
  • हॉस्पिटल में बेड की स्थिति जानने बरियातू रोड के तीन बड़े हॉस्पिटल में गया तो बताया गया कि गंभीर होने पर ही हॉस्पिटल में बेड मिलेगा। एक निजी हॉस्पिटल में पहले से भर्ती कोविड मरीज के परिजन ने बताया कि रोजाना 20 हजार रुपए का इंजेक्शन दे रहा है। रोजाना का खर्च 35 से 40 हजार रुपए आ रहा है। इसके बाद सदर हॉस्पिटल जाने पर बताया गया कि मरीज को आना होगा, स्थिति देखने पर बेड उपलब्ध कराया जाएगा।
  • कोरोना से मौत होने पर अंतिम संस्कार करने के लिए हरमू मुक्तिधाम में संपर्क करने पर बताया गया कि यहां सामान्य मौत होने पर ही शव जलाया जाएगा। कोविड से मरने वालों का दाह-संस्कार घाघरा में हो रहा है। रिम्स में इसके लिए संपर्क किया तो रिसेप्शन पर बताया गया कि कोरोना से मौत होने पर प्रशासन को सूचना देनी होगी। इसके बाद ही बॉडी वहां जाएगी। घाघरा जाने पर वहां मौजूद एक कर्मचारी ने बताया कि अभी दो दर्जन से अधिक डेड बॉडी लाइन में है। कल ही अंतिम संस्कार होगा।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें