• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • In Jharkhand, Teachers Are Being Deputed In Kovid Care Without Kovid Kit, The Union Said The Teachers Posted In Kovid Duty Should Have Insurance Of 50 Lakhs

शिक्षकों की शंका:झारखंड में बिना कोविड किट के ही शिक्षकों को कोविड केयर में किया जा रहा है प्रतिनियुक्त, संघ ने कहा- कोविड ड्यूटी में तैनात शिक्षकों का 50 लाख का हो बीमा

रांची6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ ने CM को पत्र लिख कर मामले की जानकारी दी है। (फाइल) - Dainik Bhaskar
अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ ने CM को पत्र लिख कर मामले की जानकारी दी है। (फाइल)

राज्य में शिक्षकों को कोविड ड्यूटी में लगाने का विरोध शुरू हो गया है। अब अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ ने CM को चिट्ठी लिखकर कोविड ड्यूटी में लगे शिक्षकों का 50-50 लाख रुपए की बीमा कराने की मांग की है। संघ ने CM से ऐसे शिक्षकों को कोरोना योद्धा घोषित करे की मांग की है। इसके साथ ही ऐसे शिक्षकों और उनके परिजनों के बेहतर इलाज की व्यवस्था करने की मांग भी CM से की गई है।

अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ प्रदेश अध्यक्ष विजेंद्र चौबे महासचिव राममूर्ति ठाकुर और मुख्य प्रवक्ता नसीम अहमद ने कहा कि विभिन्न जिलों में जिला प्रशासन के निर्देश पर अस्पताल, वैक्सीनेशन और कोविड जांच केंद्रों पर अलग-अलग शिफ्टों में शिक्षकों से काम लिया जा रहा है।

अभी तक शिक्षकों को कोविड सुरक्षा किट भी नहीं दिया गया है। इसके कारण कोविड केंद्रों पर प्रतिनियुक्त कई शिक्षक खुद भी संक्रमित हो रहे हैं। जिससे उनके खुद के साथ साथ परिवार भी मानसिक दवाब में रह रहे हैं।

नियमों के खिलाफ दिव्यांग शिक्षकों से भी किया जा रहा है प्रतिनियुक्त
संघ के मुख्य प्रवक्ता नसीम अहमद ने कहा कि 2020 में ऐसा नियम बनाया गया था कि दिव्यांग शिक्षकों को शिक्षकेत्तर कार्यों में नहीं लगाया जाएगा। इसके बाद दिव्यांग शिक्षकों को कोविड कार्य में प्रतिनियुक्त किया गया है। शिक्षक संघ ने मांग की है कि दिव्यंग, 50 वर्ष से अधिक आयु वाले शिक्षक व गंभीर बीमारी से ग्रसित शिक्षकों को कोविड ड्यूटी से मुक्त रखा जाए।

खबरें और भी हैं...