केंद्र काे तीसरी बार भेजा जा रहा प्रस्ताव:नए साल में बढ़ेगा आईपीएस कैडर स्ट्रेंथ, 8 पद बढ़ सकते हैं

रांची4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राज्य के आईपीएस कैडर स्ट्रेंथ में नए साल में वृद्धि की संभावना है। राज्य के आईपीएस कैडर के स्ट्रेंथ में आठ आईपीएस अफसरों के वृद्धि की उम्मीद है। राज्य में अभी आईपीएस कैडर स्ट्रेंथ 149 है। यह संख्या बढ़कर 156 या 157 हाे सकती है। आईपीएस कैडर स्ट्रेंथ में वृद्धि करने के लिए राज्य सरकार की ओर से जल्द ही प्रस्ताव केंद्र सरकार काे भेजा जाएगा। वैसे अब तक राज्य सरकार की ओर से दाे बार आईपीएस कैडर स्ट्रेंथ में वृद्धि के लिए प्रस्ताव भेजा जा चुका है। यह तीसरी बार प्रस्ताव भेजा जाएगा।

पहली बार राज्य सरकार की ओर से अपनी आवश्यकता बताते हुए वर्तमान आईपीएस कैडर स्ट्रेंथ के विरुद्ध 10 फीसदी से ज्यादा का प्रस्ताव भेजा गया था, लेकिन केंद्र ने इस प्रस्ताव काे वापस कर दिया। इसके बाद फिर से राज्य सरकार ने प्रस्ताव भेजा, लेकिन इस बार भी वर्तमान कैडर स्ट्रेंथ के मुकाबले पांच फीसदी से ज्यादा स्ट्रेंथ बढ़ाने का प्रस्ताव था। केंद्र सरकार ने इसे भी नामंजूर कर दिया। अब राज्य सरकार की ओर वर्तमान आईपीएस कैडर स्ट्रेंथ के विरुद्ध करीब पांच फीसदी वृद्धि का प्रस्ताव भेजा जाएगा। मालूम हाे कि राज्य में आईपीएस के कई पदाें का सृजन हाल के वर्षों में हुआ है।

आईपीएस संवर्ग में प्रोन्नति नहीं मिलने से 24 पद खाली
राज्य में आईपीएस स्ट्रेंथ 149 है। इसमें से सीधी नियुक्ति वाले आईपीएस अफसरों की संख्या 104 है, जबकि प्रोन्नति से भरे जाने वाले आईपीएस अफसरों के लिए 45 पद सृजित हैं। आईपीएस संवर्ग में प्रोन्नति नहीं मिल पाने की वजह से प्रोन्नति से भरे जाने वाले 24 आईपीएस के पद खाली हैं। इन पदाें पर प्रोन्नति के लिए पिछले कई वर्षों से यूपीएससी की बैठक नहीं हाे सकी है।

खबरें और भी हैं...