ऑर्डर जारी:जेल अधीक्षक ने एम्स डायरेक्टर काे भेजा ईमेल- लालू प्रसाद अब हमारे कैदी नहीं

रांची6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • हाईकोर्ट से जमानत के 12 दिन बाद रिलीज ऑर्डर जारी

चारा घाेटाले में सजा काट रहे राजद प्रमुख लालू प्रसाद काे हाईकाेर्ट से जमानत मिलने के 12 दिन बाद रिलीज ऑर्डर जारी हाे गया। रांची के बिरसा केंद्रीय कारागार हाेटवार के जेल अधीक्षक हामिद अंसारी ने गुरुवार काे रिलीज ऑर्डर की काॅपी ईमेल से दिल्ली एम्स के डायरेक्टर काे भेज दी। डायरेक्टर ने इसे मंजूर कर लिया है। इसमें लिखा है कि लालू प्रसाद अब हमारे कैदी नहीं रहे। इसकी काॅपी रांची एसएसपी काे भी भेजी गई है। दुमका काेषागार से अवैध निकासी मामले में लालू प्रसाद 18 मार्च 2018 से सजा काट रहे हैं।

इस मामले में सीबीआई के विशेष जज शिवपाल सिंह की अदालत ने लालू प्रसाद काे दाे धाराओं में सात-सात साल की सजा सुनाई थी। काेर्ट ने दाेनाें सजा अलग-अलग काटने का आदेश दिया था। वह रांची के रिम्स में इलाज करा रहे थे। तबीयत बिगड़ने पर उन्हें दिल्ली ले जाया गया था। वहां एम्स में अभी उनका इलाज चल रहा है। इससे पहले गुरुवार काे लालू प्रसाद की ओर से सीबीआई के स्पेशल जज की काेर्ट में एक-एक लाख रुपए के दाे मुचलके दाखिल किए गए। जांच में काेर्ट ने मुचलके काे सही पाया। इसके बाद लालू को रिलीज ऑर्डर जारी करने का निर्देश दे दिया।

वकीलाें के काेर्ट आने पर थी राेक, इसलिए बेल बॉन्ड भरने में हुई देरी

लालू प्रसाद काे हाईकाेर्ट ने 17 अप्रैल काे ही जमानत दे दी थी। लेकिन काेराेना के बढ़ते संक्रमण के कारण स्टेट बार काउंसिल ने वकीलाें के काेर्ट में आने पर राेक लगा दी थी। 28 अप्रैल काे बार काउंसिल ऑफ इंडिया नेआदेश जारी किया कि जिन्हें ऊपरी अदालत ने जमानत दे दी है, उनके लिए निचली अदालत में बेल बाॅन्ड भरा जा सकेगा। वकील और उनके लिपिक काे काेर्ट आकर बेल बाॅन्ड भरने की छूट रहेगी। इस आदेश के बाद ही गुरुवार काे लालू प्रसाद के वकील ने बेल बाॅन्ड भरा। इसके बाद रिलीज ऑर्डर जारी किया गया।

खबरें और भी हैं...