झारखंड विधानसभा में कांग्रेस के मंत्री-विधायक में तकरार:विधायक इरफान अंसारी की मांग पर बन्ना गुप्ता ने कहा- DC से प्रतिवेदन मंगवा कर विचार करुंगा, झल्लाए अंसारी ने कहा- क्या अब विधायक से बड़ा DC हो गया है

रांची10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इरफान अंसारी जामताड़ा में CHC खोलने की मांग कर रहे थे, इस पर मंत्री ने कहा था कि वहां पहले से ही  CHC है। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
इरफान अंसारी जामताड़ा में CHC खोलने की मांग कर रहे थे, इस पर मंत्री ने कहा था कि वहां पहले से ही CHC है। (फाइल फोटो)

हंगामे के बीच झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के तीसरे दिन की कार्यवाही शुरू हुई। एक तरफ जहां स्पीकर प्रश्नकाल को संचालित करने की कोशिश कर रहे थे तब दूसरी तरफ BJP के विधायक जय श्रीराम के नारे लगा रहे थे। इस बीच हेल्थ मिनिस्टर बन्ना गुप्ता और जामताड़ा से कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी के बीच तकरार देखने को मिला।

इरफान अंसारी ने प्रश्नकाल के दौरान जामताड़ा में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (CHC) खोलने की मांग की। इस पर पहले मंत्री ने कहा कि 3KM के रेडियस में वहां CHC है। इस पर विधायक ने कहा कि मंत्री गलत जानकारी दे रहे, CHC 13 KM दूर है। इसके बाद मंत्री ने कहा कि विधायक की मांग पर जामताड़ा के DC से प्रतिवेदन मंगाकर आबादी के हिसाब से आगे की कार्रवाई की जाएगी। इस पर झल्लाए इरफान अंसारी ने कहा कि विधायक से बड़े अब DC हो गए हैं।

दीपका पांडेय ने उठाया शराब का मुद्दा

वहीं, महगामा विधायक दीपिका पांडेय सिंह ने विधानसभा में शराब का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि बिहार के सीमाई इलाका होने के कारण उनके विधानसभा में बड़ी संख्या में बिहार से लोग शराब पीने पहुंचते हैं। इसके कारण आए दिन उन इलाकों में लड़ाई-झगड़े होते हैं। इन्होंने उन सीमाई इलाकों में स्थित शराब की दुकानों को बंद करने की मांग की है। वहीं सरयू राय स्थापना दिवस पर हुए खर्च का सवाल एक बार फिर से उठाया है।

धरने पर बैठे विधायक को स्पीकर ने अंदर बुलाने के लिए कहा

इस बीच विधायक ने विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे दो विधायकों अपर्णा सेन गुप्ता और शशि भूषण मेहता को विधानसभा अध्यक्ष ने अंदर लाने के लिए कहा। इसकी जिम्मेदारी उन्होंने संसदीय कार्यमंत्री आलमगीर आलम और BJP विधायक नीरा यादव को इसकी जिम्मेदारी दी।

खबरें और भी हैं...