झारखंड / लॉकडाउन से परिवहन व्यवस्था ठप, कोयले की कमी के कारण बिजली उत्पादन हो सकता है बाधित

प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • ऊर्जा सचिव एल खियांग्ते ने सारे डीसी एवं एससपी को पत्र लिख कोयला परिवहन एवं ढुलाई के लिए परिवहन व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 01:56 PM IST

रांची. राज्य के बिजली उत्पादन केंद्रो में कोयले का स्टॉक खत्म होता जा रहा है। लॉकडाउन के कारण परिवहन व्यवस्था पूरी तरह ठप है। इसके कारण बिजली उत्पादन बाधित हो सकता है। राज्य के ऊर्जा सचिव एल खियांग्ते ने राज्य के सभी डीसी एवं एसएसपी को पत्र भेजकर कोयले परिवहन एवं ढुलाई की व्यवस्था कराने की मांग की है।

ऊर्जा सचिव ने लिखा है कि राज्य के निजी एवं डीवीसी समेत अन्य कोयला आधारित बिजली प्लांट से कोयला परिवहन बाधित होने के कारण राज्य में बिजली उत्पादन पर संकट हो गया है। केंद्र सरकार के अनुसार बिजली आवश्यक सेवा के अधीन आता है। इसको लेकर केंद्र सरकार ने भी पत्र सभी राज्यों को जारी किया है। इसलिए राज्य के उत्पादित सभी बिजली उत्पादन केंद्रों में कोयला ढुलाई के लिए परिवहन मुहैया कराएं।

राज्य में ये कंपनियों करती हैं बिजली उत्पादन
राज्य का अपना प्लांट
टीवीएनएल: करीब साढ़े तीन से चार सौ मेगावाट
इनलैंड पावर: 55 मेगावाट
आधुनिक पावर: 480 मेगावाट, जिसमें 180 बिजली निगम लेती है।
डीवीसी पावर: करीब 3000 मेगावाट, जिसमें बिजली निगम 700 मेगावाट के करीब बिजली खरीदता है
मैथन: टाटा पावर -1000 मेगावाट
जमेशदुपर जोजोबेरा-1000 मेगावाट

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना