झारखंड में अपराध का ग्राफ:एक साल में 1451 मर्डर हुए, डकैती और लूट के मामले भी बढ़े, रेप में आई कमी

रांची7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

झारखंड में मर्डर के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। झारखंड पुलिस की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक सितंबर 2020 तक हत्या के 1426 मामले हुए थे। वहीं, इस साल सितंबर 2021 तक 1451 मर्डर के मामले सामने आए हैं।

डकैती के 88 कांडों की तुलना में इस साल महज एक केस की बढ़ोतरी के साथ 89 केस दर्ज किए गए हैं। लूट के 508 कांडों की तुलना में इस साल 538 केस दर्ज किए गए हैं।चोरी के 7138 कांडों की तुलना में इस साल 7156 केस दर्ज किए गए हैं। फिरौती के लिए अपहरण के 15 कांडों के बजाय इस साल 31 कांड दर्ज हुए हैं।

हालांकि इस दौरान रेप के मामलों में कमी आई है। इस राज्य पुलिस की रिपोर्ट के मुताबिक, सितंबर 2020 तक राज्य में 1361 केस दर्ज किए गए थे। हालांकि, इस साल केस की संख्या घट कर 1230 रही।

ओवर ऑल क्राइम में भी आई कमी
झारखंड पुलिस के आकड़ों के मुताबिक राज्य में ओवरऑल क्राइम में कमी आई है। साल 2020 में जनवरी से सितंबर माह तक 46,790 संज्ञेय अपराध थानों में दर्ज हुए थे, वहीं इस साल संज्ञेय अपराध के केस घटकर 45677 थानों में दर्ज हुए हैं।