झारखंड में डॉक्टर की मनमानी पर सख्त हुआ विभाग:ज्वाइन कर डयूटी नहीं करने वाले डॉक्टर की जाएगी नौकरी, हेल्थ डिपार्टमेंट ने सिविल सर्जन से मांगी लिस्ट

रांची9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हेल्थ डिपार्टमेंट ने सभी जिले के सिविल सर्जन से ऐसे डॉक्टरों की लिस्ट मंगाई है, जो नौकरी तो ज्वाइन कर लिए हैं लेकिन लंबे समय से गायब रह रहे हैं।   - Dainik Bhaskar
हेल्थ डिपार्टमेंट ने सभी जिले के सिविल सर्जन से ऐसे डॉक्टरों की लिस्ट मंगाई है, जो नौकरी तो ज्वाइन कर लिए हैं लेकिन लंबे समय से गायब रह रहे हैं।  

झारखंड में एक तरफ जहां डॉक्टर के रिक्रूटमेंट की मांग हो रही है तो दूसरी तरफ हेल्थ डिपार्टमेंट अब डॉक्टरों की मनमानी पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रहा है। डिपार्टमेंट ने सभी जिले के सिविल सर्जन से ऐसे डॉक्टरों की लिस्ट मंगाई है, जो नौकरी तो ज्वाइन कर लिए हैं लेकिन लंबे समय से गायब रह रहे हैं। ऐसे डॉक्टर को भी आवश्यक प्रक्रिया पूरी कर बर्खास्त किया जाएगा। फिलहाल विभाग ने नवनियुक्त डॉक्टरों को योगदान देने का अंतिम मौका दिया है। योगदान नहीं देने पर सभी कार्यमुक्त किए जाएंगे। सूत्रों के मुताबिक, राज्य भर में लगभग चार दर्जन नवनियुक्त डॉक्टर योगदान देने के बाद ड्यूटी से गायब हैं।

18 जनवरी तक योगदान देने का दिया गया था समय

झारखंड लोक सेवा आयोग की अनुशंसा पर इनकी नियुक्ति पिछले साल हुई थी तथा इन सभी को 18 जनवरी 2021 तक योगदान देने को कहा गया था। बाद में समय सीमा बढ़ाते हुए इन्हें 18 फरवरी 2021 तक योगदान देने का अवसर दिया गया। इसके बावजूद योगदान नहीं देने पर विभाग ने इन्हें 30 सितंबर तक योगदान देने का अंतिम अवसर दिया है। यदि इस अवधि तक डॉक्टर अपने पदस्थापन स्थल पर योगदान नहीं देते हैं तो इनकी नियुक्ति को रद करने की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...