JPSC परीक्षा से नाराज अभ्यर्थियों ने राज्यपाल से लगाई गुहार:राजभवन के समक्ष 4 घंटे तक किया प्रदर्शन, ज्ञापन सौंप कहा- PT का परिणाम विज्ञापन और नियमों के अनुरूप नहीं

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
7वीं-10वीं JPSC में खामियों को दूर करने और इसे दोबारा से आयोजित करने की मांग को लेकर नाराज अभ्यर्थी पिछले 37 दिनों से मोरहाबादी मैदान में आंदोलनरत हैं। - Dainik Bhaskar
7वीं-10वीं JPSC में खामियों को दूर करने और इसे दोबारा से आयोजित करने की मांग को लेकर नाराज अभ्यर्थी पिछले 37 दिनों से मोरहाबादी मैदान में आंदोलनरत हैं।

झारखंड लोक सेवा आयोग (JPSC) 7वीं से 10वीं परीक्षा के विवाद का मामला अब राजभवन तक पहुंच गया है। मंगलवार को झारखंड स्टूडेंट यूनियन के बैनर तले हर जिले के लगभग 100 से ज्यादा नाराज अभ्यर्थियों ने राजभवन के समक्ष प्रदर्शन किया। इसके बाद उन्होंने राज्यपाल के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा।

इसमें इन्होंने PT परीक्षा के परिणाम को रद्द कर नए सिरे से परीक्षा आयोजित करने की मांग की है। इन्होंेने 10 प्वाइंट में इसकी त्रुटियां गिनाकर कहा कि PT परीक्षा का परिणाम JPSC की ओर से जारी विज्ञापन और नियमों के अनुरूप नहीं है। इसलिए इसे तत्काल रद्द किया जाए।

पद्मश्री मुकुंद नायक ने भी आंदोलनरत अभ्यर्थियों को अपना समर्थन दिया। वे भी इसमें सामिल हुए। उन्होंने कहा कि 21 सालों में सिर्फ सात परीक्षा ली गई जो कि बहुत गलत है।
पद्मश्री मुकुंद नायक ने भी आंदोलनरत अभ्यर्थियों को अपना समर्थन दिया। वे भी इसमें सामिल हुए। उन्होंने कहा कि 21 सालों में सिर्फ सात परीक्षा ली गई जो कि बहुत गलत है।

पद्मश्री मुकुंद नायक ने भी किया समर्थन
पद्मश्री मुकुंद नायक ने भी आंदोलनरत अभ्यर्थियों को अपना समर्थन दिया। वे भी इसमें सामिल हुए। उन्होंने कहा कि 21 सालों में सिर्फ सात परीक्षा ली गई जो कि बहुत गलत है। यह छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ है। सरकार को छात्रों की बात निष्पक्ष होकर सुननी चाहिए।

37 दिनों से कर रहे हैं आंदोलन
7वीं-10वीं JPSC में खामियों को दूर करने और इसे दोबारा से आयोजित करने की मांग को लेकर नाराज अभ्यर्थी पिछले 37 दिनों से मोरहाबादी मैदान में आंदोलनरत हैं। इस दौरान दो बार इनकी JPSC चेयरमैन के साथ भी वार्ता हुई। JPSC की तरफ से इनके सभी सवालों का जवाब भी दिया गया है। हालांकि क्रमवार रिजल्ट के मुद्दे को JPSC ने भी स्वीकारा है और फिलहाल उसी जांच जारी है।

खबरें और भी हैं...