आंदोलनरत अभ्यर्थियों की राजनीतिक पार्टियों से अपील:7वीं से 10वीं JPSC में महाघोटाला हुआ है, बयानबाजी की जगह इसकी निष्पक्ष जांच कराने में हमारा सहयोग करें

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

झारखंड लोक सेवा आयोग पर BJP और कांग्रेस की बयानबाजियों के बीच अब आंदोलनरत अभ्यर्थियों ने भी अपना पक्ष रखा है। झारखंड स्टेट स्टूडेंट यूनियन की तरफ से बयान जारी कर कहा गया है कि हमारे आंदोलन को राजनीति का अखाड़ा नहीं बनाएं। 7वीं से 10वीं JPSC में महाघोटाला हुआ है। इसकी निष्पक्ष जांच कराने में हमारी मदद करें।

अभ्यर्थियों की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि महाघोटाला के विरूद्ध लगातार 32वें दिन भी आंदोलन जारी है। PT का रिजल्ट रद्द होने तक संघर्ष जारी रहेगा। यह आंदोलन JPSC में निष्पक्ष, पारदर्शिता और नियमावली के तहत मेधावी छात्रों के अधिकार के लिए किया जा रहा है। यह अभ्यर्थियों का आंदोलन है किसी राजनीतिक दल का नहीं।

अभ्यर्थियों के साथ अन्याय कर रही है सरकार

JPSC को भ्रष्टाचार मुक्त करने की दिशा में राजनीतिक संगठन छात्र हित में काम करने के बजाय आपस में बयानबाजी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि महागठबंधन सरकार की तरफ से छात्रों पर अन्याय किया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया है कि सरकारी नौकरी में कैरेक्टर सर्टिफिकेट मांगा जात है और नौकरी देने वाली संस्था का अध्यक्ष उन्हें बनाया जाता है जिन पर पहले से ही वित्तीय अनियमितता के मामले चल रहे हैं।

ये हैं आंदोलनरत
मौके पर छात्र नेता मनोज यादव, प्रवीण चौधरी, देवेंद्र नाथ महतो, कहकशा कमाल, मनीष मिश्रा, अभिनव कुमार, भारती कुमारी, सोनू कुमार, पवन कुमार, कुणाल प्रताप आदि शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...