मानदेय पर माने पारा शिक्षक:4 बार आकलन परीक्षा देने का मिलेगा मौका, पासिंग मार्क्स भी हुआ कम, फेल वाले की भी नहीं जाएगी नौकरी

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंत्री के साथ बैठक के बाद अपनी बातें रखते पारा शिक्षक संघ के प्रतिनिधि। शिक्षक संघ ने सरकार के सभी नियमों पर अपनी सहमति जाताई है। - Dainik Bhaskar
मंत्री के साथ बैठक के बाद अपनी बातें रखते पारा शिक्षक संघ के प्रतिनिधि। शिक्षक संघ ने सरकार के सभी नियमों पर अपनी सहमति जाताई है।

एकीकृत पारा शिक्षक संघ के प्रतिनिधि और शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो के साथ मंलवार को बैठक हुई। इसमें पारा शिक्षक संघ सरकार की नई नियमावली पर मान गए हैं। शिक्षा मंत्री ने पारा शिक्षकों की सभी मांगो को मान लिया है। इसके तहत अब पारा शिक्षकों को आकलन परीक्षा के लिए 4 मौके दिए जाएंगे। इस परीक्षा में फेल होने के बाद भी किसी को नौकरी से बाहर नहीं निकाला जाएगा।

वहीं पारा शिक्षक वेतनमान की जिद को छोड़कर मानदेय पर मान गए हैं। पारा शिक्षकों का अब हर साल 10% इन्क्रिमेंट मिलेगा। इसके साथ ही सरकार पारा शिक्षकों के लिए अनुकंपा पर विचार करेगी। अब 20 दिसंबर को सरकार इस मुद्दे को कैबिनेट में लेकर आएगी। कैबिनेट में पास होते ही 29 दिसंबर को इसे पास कर दिया जाएगा।

आकलन परीक्षा में पासिंग मार्क्स को भी किया गया कम
बैठक के बाद संघ के संयोजक विनोद बिहारी महतो ने बताया कि आकलन परीक्षा का अंक जनरल मार्क्स को 45% से घटाकर 40% कर दिया गया है। इसके साथ ही OBC व अन्य को 35% कर दिया गया है। अवकाश के अलावा स्वास्थ्य, चिकित्सा अवकाश को भी शामिल किया गया है।

वेतनमान का रास्ता बंद नहीं हुआ है
पारा शिक्षक संघ के संजय कुमार दूबे ने बताया कि वेतनमान का रास्ता अभी बंद नहीं हुआ है। अगले साल से इस पर विचार किया जाएगा और नियमसंगत इस पर कार्रवाई की जाएगी। वेतनमान देने में आरक्षण रोस्टर के कारण परेशानी हो रही है। बजट सत्र के बाद आरक्षण रोस्टर की त्रुटियों को दूर कर इस पर कार्य किया जाएगा। वेतनमान में वृद्धि के साथ कई सुविधाओं को शामिल किया गया है।

नई नियमावली में क्या है प्रावधान
TET पास पारा शिक्षकों के मानदेय में एक मुश्त 50 फीसदी की बढ़ोतरी की जाएगी, जबकि बिना TET वाले पारा शिक्षकों के मानदेय में 40% की बढ़ोतरी होगी। बिना TET वाले पारा शिक्षकों की आकलन परीक्षा भी होगी। इसमें पास करने के बाद उनके मानदेय में अलग से 10 फीसदी की बोनस के रूप में बढ़ोतरी होगी। यह एक जनवरी 2022 के प्रभाव से लागू होगा। स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग ने झारखंड पारा शिक्षक सेवाशर्त नियमावली 2021 के प्रारूप में इसका प्रावधान किया है।