निलंबित IAS अफसर पूजा सिंघल ED कोर्ट में हुईं पेश:कोर्ट ने 8 जून तक न्यायिक हिरासत में भेजा, पूछताछ में हुए हैं अहम खुलासे

रांची2 महीने पहले
ईडी कार्यालय से कोर्ट के लिए रवाना होतीं पूजा सिंघल।

झारखंड की सस्पेंड IAS अफसर पूजा सिंघल को ED (प्रवर्तन निदेशालय) की रांची स्थित विशेष अदालत ने 9 जून को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। पूजा सिंघल की बुधवार को रिमांड समाप्त हो गई थी। इसके बाद ED ने उन्हें कोर्ट में पेश किया था।

पूजा सिंघल विशेष न्यायाधीश पीके शर्मा की कोर्ट में उपस्थित हुईं। वह पेशी के लिए दोपहर करीब पौने एक बजे रांची के क्षेत्रीय कार्यालय से कोर्ट के लिए रवाना हुईं। ED ने खनन और मनरेगा में भ्रष्टाचार के मामले में सिंघल को 11 मई को गिरफ्तार किया था।

कोर्ट के लिए निकलतीं पूजा सिंघल।
कोर्ट के लिए निकलतीं पूजा सिंघल।

तीसरी बार रिमांड पर लिया था

20 मई को उन्हें तीसरी बार रिमांड पर लिया था। सिंघल से 14 दिनों तक रिमांड में रखकर लगातार पूछताछ की गई। बुधवार को कोर्ट में पेशी के बाद उन्हें बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार भेज दिया गया।उन्हें जेल की महिला वार्ड में रखा गया है।

इससे पहले सिंघल के पति अभिषेक झा के CA सुमन सिंह से 13 दिनों तक पूछताछ के बाद 20 मई को जेल भेज दिया गया था। ED की ओर से दोनों से की गई पूछताछ में कई अहम खुलासे हुए हैं। इसके आधार पर पूजा सिंघल से जुड़े अधिकारियों से पूछताछ हो रही है।

ED ने मांगी पूछताछ की इजाजत

बुधवार को सुनवाई के दौरान ED के वकील ने कोर्ट के समक्ष कहा कि वह कानून से बंधे हैं लेकिन जेल प्रशासन को ऐसा निर्देश दिया जाए कि जब भी जरूरत पड़े तो पूछताछ के लिए उन्हें परमिशन मिले। वहीं बचाव पक्ष ने कहा कि पूजा सिंघल ब्लड प्रेशर से ग्रसित हैं और ED ने जो मेडिकल टेस्ट कराया है उसका रिकॉर्ड उन्हें भी मिले।

पेशी से पहले हुई मेडिकल जांच, डॉ ने दी नादब्रह्म करने की सलाह

वही कोर्ट में पेशी से पहले 11 बजे सदर अस्पताल की मेडिकल टीम पूजा सिंघल की जांच की जांच करने ED कार्यालय पहुंची। जांच करने वाले डॉक्टर आरके जायसवाल ने बताया कि सिंघल नॉर्मल हैं, लेकिन चिंतित नजर आ रही थी। ऐसे में उन्होंने सिंघल को मेडिटेशन करने को कहा है। नादब्रह्म के बारे में बताया है इसे करने से उन्हें आराम मिलेगा। वहीं पूजा सिंघल से मिलने उनके पति अभिषेक झा अपने बेटे और बेटी को लेकर ED कार्यालय में पहुंचे थे।

पूजा सिंघल से पूछताछ के दौरान मिली अहम जानकारी के आधार पर दुमका, साहिबगंज, पाकुड़ और रांची के जिला माइनिंग ऑफिसर से भी ED ने कड़ी पूछताछ की है। साथ ही उनके कथित करीबियों विशाल चौधरी और निशीथ केसरी के ठिकानों पर भी छापे मारे गए हैं। ईडी सूत्रों की मानें तो इस पूछताछ और इस छापेमारी से कई अहम जानकारियां हासिल हुई हैं।

पहले भी एक रात जेल में गुजार चुकी हैं सिंघल
यह दूसरा मौका होगा जब पूजा सिंघल को जेल में अपना समय गुजारना होगा। इससे पहले 11 मई को गिरफ्तारी के बाद उन्हें एक रात जेल में गुजरना पड़ा था। हालांकि इस दौरान उन्होंने जेल की व्यवस्था पर सवाल उठाया था। वहां मौजूद कर्मियों को साफ-सफाई मेंटेन करने के लिए भी फटकार लगाई थी। इतना ही नहीं उन्होंने जेल में मिलने वाले नाश्ता करने से मना कर दिया था।

ईडी की कार्रवाई झेलने वाली राज्य की पहली महिला आईएएस हैं सिंघल

सिंघल राज्य की पहली महिला आईएएस अधिकारी होंगी जिनके खिलाफ ईडी की कार्रवाई इस अंजाम तक पहुंची है। इतना ही नहीं खनन लीज़ और मनी लांड्रिंग से जुड़ी जानकारियों के आधार पर उनकी मुश्किल है आने वाले समय में और भी बढ़ सकती हैं। एक तरफ जहां उनके पति अभिषेक झा के अस्पताल पल्स हॉस्पिटल पर में निवेश को लेकर अभी तक तस्वीर क्लियर नहीं है। वहीं दूसरी तरफ आय से अधिक पैसे सिंघल के अकाउंट में कैसे आए यह भी साफ नहीं हुआ है। इतना ही नहीं उनके कथित करीबियों के यहाँ हुई ईडी की रेड में बरामद संपत्ति से जुड़े कागज और निवेश की जानकारियां भी सिंघल को मुसीबत में डाल सकती हैं।