दुष्कर्म का मामला:नाबालिग आदिवासी बच्ची के दुष्कर्म मामले में जेजे एक्ट का नहीं हुआ पालन : भाजपा

रांची4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रेस कांफ्रेंस में प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष गंगोत्री कुजूर व पूर्व महिला मोर्चा अध्यक्ष आरती कुजूर। - Dainik Bhaskar
प्रेस कांफ्रेंस में प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष गंगोत्री कुजूर व पूर्व महिला मोर्चा अध्यक्ष आरती कुजूर।

प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष गंगोत्री कुजूर ने आरोप लगाया है कि झारखंड में दुष्कर्म, हत्या और उत्पीड़न का रोज रिकार्ड बन रहा है। प्रदेश भाजपा कार्यालय में हुई प्रेस वार्ता में गंगोत्री ने कहा कि चान्हो में हुई नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना ने राज्य को शर्मसार किया है। महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष आरती कुजूर ने आरोप लगाया कि नाबालिग आदिवासी बच्ची के अपहरण और दुष्कर्म मामले में जुवेनाइल जस्टिस एक्ट का पालन करने में पुलिस विफल रही।

नाबालिग बच्ची को सुबह 11 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक थाने में बैठा कर रखना जेजे एक्ट का उल्लंघन है। उन्होंने पुलिस- प्रशासन से सवाल पूछा कि क्या थाना चाइल्ड फ्रेंडली था? क्या थाने में चाइल्ड फ्रेंडली पुलिस थी? क्या उसके साथ एनजीओ के लोग थे? क्या महिला काउंसलर थी? क्या बाल कल्याण समिति को सूचित किया गया था? उन्होंने कहा कि इन सभी नियमों का उल्लंघन किया गया है।

दोनों ने सरकार से मांग की कि एक निश्चित समय सीमा के अंदर फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से दुष्कर्मियों को फांसी की सजा दी जाए। प्रेस वार्ता में भाजपा एसटी मोर्चा की प्रदेश प्रवक्ता अनु लकड़ा भी थीं।

खबरें और भी हैं...