भू माफिया-अंचल कर्मी गठजोड़:प्रस्तावित मेडिको सिटी की कीमती जमीन पर कब्जा कर रहे भू माफिया, कार्रवाई के निर्देश

रांची8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अधिग्रहित जमीन के खाते की लगान रसीद जारी कर दी - Dainik Bhaskar
अधिग्रहित जमीन के खाते की लगान रसीद जारी कर दी

स्वास्थ्य विभाग के प्रस्तावित इटकी मेडिको सिटी की बेशकीमती जमीन पर भू-माफियाओं की नजर है। भू माफिया स्थानीय अंचल कार्यालय के कर्मियों की मिलीभगत से जमीन के कागजात गायब कर उस पर कब्जा करने में जुटे हैं। इसकी शिकायत मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह ने रांची डीसी को पत्र लिखकर भू-माफियाओं और संलिप्त अंचल कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है। साथ ही इस मामले की पूरी जांच करने को भी कहा गया है।

आरोग्यशाला की लगभग 70 एकड़ जमीन पर पीपीपी मोड पर मेडिको सिटी को विकसित करने की प्रक्रिया लंबे समय से चल रही है। यहां मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल, नर्सिंग कॉलेज, सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल, फार्मेसी और नर्सिंग कॉलेज आदि बनाया जाना है। वर्ल्ड क्लास मेडिको सिटी के प्रस्तावित निर्माण को देखते हुए जमीन माफिया यहां कब्जा कर उसे बेचने की कोशिश में जुटे हैं।

स्थानीय ग्रामीणों ने की है जमीन पर कब्जा होने की शिकायत

इटकी आरोग्यशाला (प्रस्तावित मेडिको सिटी) की जमीन पर कब्जे की शिकायत स्थानीय ग्रामीणों ने की है। अपर मुख्य सचिव को की गई शिकायत में ग्रामीणों ने कहा है कि आरोग्यशाला के निर्माण के लिए इटकी और कुंदी मौजा में आजादी से पूर्व 1916 और 1936 में जमीन का अधिग्रहण किया गया था। इनमें से अधिकतर जमीन की चहारदीवारी हो चुकी है। कुंदी मौजा में ग्रामीणों की मांग पर इटकी थाना के बगल में खेल का मैदान छोड़ा गया है।

अंचल कार्यालय से गायब कर दिए जमीन के कागजात

अधिग्रहण से संबंधित कागजात 30 दिसंबर 2014 को इटकी यक्ष्मा आरोग्यशाला के अधीक्षक को उपलब्ध कराए गए थे। लेकिन इसी बीच भू माफियाओं द्वारा अंचल कर्मियों की मिलीभगत से वर्ष 2015 से 2018 के बीच जमीन के कागजात गायब कर दिए गए। मोटी रकम लेकर कुंदी मौजा के कई खाता संख्या की लगान रसीद निर्गत कर दी गई, जिस पर पहले रोक लगाई गई थी। अपर मुख्य सचिव ने निर्देश दिया कि ऐसी स्थिति में इस पूरे मामले की जांच कराई जाए।

वर्ल्ड क्लास इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार होगा, कई विदेशी मेडिको सिटी का हो रहा आकलन

राजधानी के इटकी में 70 एकड़ में प्रस्तावित मेडिको सिटी को वर्ल्ड क्लास हेल्थ कैंपस के रूप में विकसित किया जाएगा। मेडिको सिटी के लिए सरकार की ओर से मनोनीत कंसल्टेंट कंपनी अर्नेस्ट एंड यंग ने विश्व के तीन प्रमुख हेल्थ कैंपस- बिल्केंट इंटीग्रेटेड हेल्थ कैंपस तुर्की, हॉलिस्टिक केयर सेंटर इडिनवर्ग, ऑस्ट्रिया और मेडिकल सिटी इंस्टिक मलेशिया का मॉडल सुझाया है।

इटकी मेडिको सिटी को इनकी तर्ज पर विकसित किया जा सकता है। अब इस पर अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री लेंगे। इससे पहले मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने प्रस्तावित मेडिको सिटी के लिए अर्नेस्ट एंड यंग को विश्व के प्रमुख मेडिको सिटी और हेल्थ सेंटर का अध्ययन कर कंप्रिहेंसिव रिपोर्ट देने को कहा था, ताकि अधिक से अधिक प्राइवेट क्षेत्र की कंपनियों को आकर्षित किया जा सके।