झारखंड में बेअसर रहा ’गुलाब’:बंगाल की खाड़ी में बने नए लो प्रेशर चक्रवात का आज से दिखेगा असर, रांची समेत राज्य के 7 जिलों में भारी बारिश के आसार

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिछले 24 घंटे में राज्य में मानसू कमजोर रहा है। हालांकि राज्य में कहीं-कहीं हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश रिकार्ड की गई। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
पिछले 24 घंटे में राज्य में मानसू कमजोर रहा है। हालांकि राज्य में कहीं-कहीं हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश रिकार्ड की गई। (फाइल फोटो)

चक्रवात ’गुलाब’ झारखंड में बेअसर रहा। यह अब खत्म हो गया है, लेकिन बंगाल की खाड़ी में एक नया लो प्रेशर चक्रवात का रूप ले लिया है, इसका सीधा असर झारखंड पर पड़ने वाला है। इसके कारण 29 व 30 सितंबर काे राज्य के मध्य व पश्चिमी हिस्से गढ़वा, चतरा, कोडरमा,लातेहार व लोहरदगा के साथ रांची, बोकारो समेत आसपास के जिलों में भारी बारिश की संभावना है।

भारतीय माैसम विज्ञान केंद्र रांची के वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने बताया है कि 30 सितंबर तक राज्य भर में बारिश हाेगी। इस दाैरान अधिकतम तापमान में भी तीन से चार डिग्री तक की गिरावट दर्ज हाे सकती है। पू्र्वानुमान है कि अधिकतम तापमान 27 से 29 डिग्री के बीच रहने के साथ न्यूनतम 22 से 23 डिग्री के बीच रहने की संभावना है।

पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में कमजोर रहा मानसून

पिछले 24 घंटे में राज्य में मानसून कमजोर रहा है। हालांकि, राज्य में कहीं-कहीं हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश रिकार्ड की गई। सबसे ज्यादा बारिश तेनुघाट में 34.8 मिमी बारिश रिकार्ड किया गया। जबकि राज्य में सबसे कम न्यूनतम तापमान चाईबासा में 21.6 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। वहीं राज्य में सबसे ज्यादा अधिकमत तापमान गोड्डा में 37.2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

रांची के 8000 ट्रांसफॉर्मर पर रखी जा रही है नजर

मौसम खराब होने की आशंका को लेकर बिजली निगम ने अगले दाे दिनाें की विशेष तैयारी की है, ताकि कहीं फॉल्ट होने पर उसे तत्काल दूर किया जा सके। राजधानी के सभी उप केंद्रों के लिए रांची जीएम ने निर्देश जारी किए हैं। इनमें जूनियर इंजीनियर और सब डिविजनल इंजीनियर काे रात 11 बजे तक सबस्टेशन में उपस्थित रहकर व्यवस्था सुचारू बनाए रखने का निर्देश दिया गया है राजधानी के 8000 से अधिक ट्रांसफार्मर की लगातार निगरानी की जाएगी।

खबरें और भी हैं...