हाईकोर्ट की फटकार के बाद नियुक्ति प्रक्रिया शुरू:रिम्स में चपरासी, चौकीदार और सफाईकर्मी बनने को एमए, बीए पास ने भी दिया आवेदन

रांची19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हाईकोर्ट की फटकार के बाद आखिरकार रिम्स में चतुर्थवर्गीय पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया शुरू हो गई है। - Dainik Bhaskar
हाईकोर्ट की फटकार के बाद आखिरकार रिम्स में चतुर्थवर्गीय पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया शुरू हो गई है।

हाईकोर्ट की फटकार के बाद आखिरकार रिम्स में चतुर्थवर्गीय पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया शुरू हो गई है। रविवार को 230 चतुर्थवर्गीय पदों के लिए लिखित परीक्षा हुई। कुल 1924 आवेदनों में से महज 140 अभ्यर्थी ही अर्हता पूरी करने के कारण परीक्षा में शामिल हो सके। बाकी आवेदन स्क्रूटनी में छंट गए। महत्वपूर्ण बात यह है कि परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों में 10 ऐसे अभ्यर्थी थे, जो एमए पास थे, वहीं 20 अभ्यर्थी बीए पास हैं। जबकि ये सभी फोर्थ ग्रेड के पद 10वीं पास अभ्यर्थियों के लिए है। इधर, तय पद से कम आवेदकों के शामिल होने से रिम्स प्रबंधन बाकी पदों के लिए फिर से बहाली निकाल सकता है।

रिम्स में इन पदों पर की जानी है नियुक्ति

हेड जमादार, पीउन कम पैकर, सफाईकर्मी, इम्बाल्वर, मॉरचुरी सेवक, स्ट्रेचर वाहक, चौकीदार, रात्रि प्रहरी, प्रयोगशाला अनुचर, किचन सेवक, सेवक, कक्ष सेवक/सेविका, सेवक सह स्वीपर, दफतरी, पीउन, दरवान, माली, लैब बॉय, प्रयोगशाला सेवक।

एमए की डिग्री और कहीं उम्मीद नहीं तो दी परीक्षा

रविवार को आयोजित परीक्षा में शामिल एमए डिग्रीधारक उम्मीदवार रोशन कुमार ने कहा कि सरकार लोगों को उनकी योग्यता के अनुसार नौकरी नहीं देना चाहती। अंडा, चाय बेचने से अच्छा है कि फोर्थ ग्रेड स्तर का काम करें। जब दूसरी वैकेंसी निकलेगी तो उसके लिए भी कोशिश करेंगे।

अभ्यर्थी राजेश बोला- किसी तरह बस नौकरी मिल जाए

लैब ब्वॉय पद के लिए परीक्षा देने आए राजेश ने कहा कि लंबे समय से रिम्स में नौकरी को लेकर इंतजार कर रहे थे। परीक्षा बेहतर गया है। उम्मीद है कि नौकरी मिल जाएगी। राजकुमार ने कहा कि लिखित परीक्षा के माध्यम से नियुक्ति में धांधली पर रोक लगेगी। योग्य उम्मीदवार को काम करने का अवसर मिलेगा।

खबरें और भी हैं...