कोरोना के मामलों में तेजी / राज्य में 1 दिन में सर्वाधिक 45 मरीज मिले, स्वास्थ्य सचिव बोले-15 दिन में हो सकते हैं 1650 मरीज

Maximum 45 patients were found in 1 day in the state, Health Secretary said - there can be 1650 patients in 15 days
X
Maximum 45 patients were found in 1 day in the state, Health Secretary said - there can be 1650 patients in 15 days

  • सर्वाधिक 42 मरीज मिलने का रिकॉर्ड 8 दिन बाद टूटा

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 07:32 AM IST

रांची. झारखंड में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। एक दिन में सर्वाधिक मरीज मिलने का रिकॉर्ड शुक्रवार को टूट गया। 20 मई को जहां 42 संक्रमित मिले थे, वहीं आठ दिन बाद 29 मई को 45 संक्रमित मिले। इनमें सबसे अधिक पूर्वी सिंहभूम के 15, उसके बाद हजारीबाग के 10 और रामगढ़ के 9 मरीज शामिल हैं। कोडरमा में 7, धनबाद में 3 और बोकारो में 2  पॉजिटिव मिले हैं।

नए संक्रमितों के मिलने के बाद राज्य में काेरोना मरीजों की संख्या 477 से बढ़कर 523 पहुंच गई है। सभी मरीजों की कॉन्टैक्ट हिस्ट्री से पता चला है कि सभी प्रवासी हैं और हाल में ही विभिन्न राज्यों से पहुंचे हैं। संक्रमितों को उनके जिले में स्थित कोविड-19 अस्पताल में भर्ती किया गया है। इधर, प्रवासी मजदूरों की घर वापसी और कोरोना के बढ़ते मामलों पर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ. नितिन मदन कुलकर्णी कहा है कि झारखंड में महामारी फैलने की यही रफ्तार रही तो अगले 15 दिनों में यहां मरीजों की संख्या बढ़कर 1650 हो जाएगी। 

सबसे अधिक 11 मरीज पूर्वी सिंहभूम से मिले
पूर्वी सिंहभूम    15
हजारीबाग    10
रामगढ़    09
धनबाद     03
कोडरमा    07
बोकारो     02
यहां से लौटे हैं मजदूर : मुंबई, गुजरात, तमिलनाडु, चेन्नई, गुरुग्राम, बेंगलुरु, पुरुलिया और कोलकाता।

संक्रमितों में 44 प्रवासी, 4 नाबालिग
रामगढ़ में मिले संक्रमितों में चार रामगढ़ प्रखंड, चार भरकुंडा और एक चितरपुर के हैं। सभी मुंबई, गुजरात, तमिलनाडु, बेंगलुरु से लौटे हैं। वहीं धनबाद में मिले तीन संक्रमितों में 12 साल का बच्चा और महिला भी हैं। बच्चा एग्यारकुंड का रहने वाला है, जो पुरुलिया से लौटा है। जबकि महिला गोविंदपुर की है, जो हरियाणा के गुरुग्राम से लौटी है। तीसरा मरीज बाघमारा का है और चेन्नई से लौटा है। पूर्वी सिंहभूम में मिले 15 संक्रमितों में सीतारामडेरा, मानगो, टेल्को व बागबेड़ा का एक-एक मजदूर है।

इनमें से दो मुंबई से और एक-एक दिल्ली, चेन्नई व गुरुग्राम से लौटे हैं। कोडरमा में मिले 7 मरीजों में तीन नाबालिग हैं। बोकारो में मिला एक मरीज कैंसर पीड़ित है, जो गोमिया का है। दूसरा सिवनडीह का 65 साल का प्रवासी है, जो कोलकाता से लौटा है। कैंसर पीड़ित संक्रमित को रिम्स के कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया है। 
स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डाॅ. नितिन मदन कुलकर्णी ने कहा कि झारखंड में काेराेना का ग्राेथ रेट 6.2 है। राज्य में 11.1 दिन में मरीज डबल हाे रहे हैं। अगर यही रफ्तार और ट्रेंड रहा ताे अगले 15 दिन में मरीजाें की संख्या 1650 के आसपास हाेगी। राज्य में अभी तक 57,876 टेस्ट किए गए हैं, जाे प्रति मिलियन 1526 है। हालांकि टेस्ट की संख्या राष्ट्रीय औसत से करीब 900 पीछे है। झारखंड में सैपल पाॅजिटिविटी रेट 0.82 फीसदी है। कुछ जिलाें गढ़वा (5.8), बोकारो (5.0), कोडरमा (2.95) और रांची (1.55) शामिल है।

रिकवरी रेट राष्ट्रीय औसत से बेहतर
स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि राज्य के कई जिलाें में डबलिंग रेट में सुधार हुआ है। कई जिलाें में अभी डबलिंग रेट 4-5 दिनाें का है। इनमें धनबाद, बाेकाराे, लातेहार, हजारीबाग, काेडरमा, सिमडेगा, पूर्वी सिंहभूम और पश्चिमी सिंहभूम शामिल है। राज्य में 212 मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि 259 एक्टिव केस हैं। राज्य में रिकवरी रेट 44.5 का है, जो राष्ट्रीय औसत से बेहतर है।

4.58 लाख प्रवासी झारखंड लाैटे
झारखंड के काेराेना मामलाें के मुख्य नाेडल अधिकारी अमरेंद्र प्रताप सिंह और आपदा प्रबंधन सचिव अमिताभ काैशल ने कहा कि ट्रेन-बस से अब तक 3 लाख 58 हजार 263 लाेगाें काे लाया जा चुका है। वहीं ट्रक, पैदल और अपनी व्यवस्था से एक लाख श्रमिक लौटे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना