पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Men Set Out In Search Of Favored Goddesses Wearing Saris And Jewelery, Will Become Women For 5 Days And Beg Maa Durga When They Return Home

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

झारखंड में अनोखी परंपरा:साड़ी-जेवर पहन इष्ट देवियों की खोज में निकले पुरुष, 5 दिन तक नारी बन मां दुर्गा से करेंगे विनती तब लौटेंगे घर

रांची3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दुर्गा पूजा की षष्ठी से दसई मनाने की परंपरा

झारखंड के संथाल में आदिवासियों को दुर्गा पूजा का साल भर से इंतजार रहता है। क्योंकि दसई में उन्हें अपनी इष्ट देवियों को खोजने जाना है। दुर्गा पूजा में इनका अनोखा पर्व है दसई। यह षष्ठी से दशमी तक मनाया जाता है। मान्यता है कि इनकी नयन और काजल दो देवियां थीं। इनका हरण दिकुओं (बाहरियों) ने कर लिया। उनकी खोज के लिए वे निकलेे।

दिकुओं को यह ज्ञात न हो इसलिए नारी की वेशभूषा धारण किया। साड़ी पहन और आभूषणों से शृंंगार कर हाथों में भुआड़ लेकर चल पड़े। मां दुर्गा से आराधना करते हैं कि उनकी देवियां मिल जाएं। इस बार भी षष्ठी को दसई गीत-हाय रे हाय दुर्गा रे...गाते हुए संथाली निकल पड़े। इसमें बजाया जाने वाला भुआड़ कद्दू के खोल से धनुषाकृति में बना होता है।

युवकों को गुरुदीक्षा लेने का अवसर

गांव के युवक इस मौके पर गुरुओं से दीक्षा लेने भी जुटते हैं। गुरु उन्हें जड़ी-बूटियों से इलाज करना सिखाते हैं। गुरुदक्षिणा में मकई मिलती है। देवी की खोज व दीक्षा 5 दिन दशमी-एकादशी तक चलती है।

बाघ जैसी शक्ति की कामना व ज्ञान की परीक्षा लेते हैं गुरु

संथाल समुदाय कामरू बुरू को अपना इष्ट देव मानता है। दसई में गांव के गुरु अपने इष्टदेव का आह्वान कर उनसे अपने गांव के नवयुवकों को बाधिन बोंगा यानी बाघ के समान शक्ति प्रदान करने की कामना करते हैं। गुरु गांव के युवकों को आसपास के पहाड़ों पर ले जाकर जड़ी-बूटियों की पहचान कराते हैं। मंत्र और ज्ञान की परीक्षा भी लेते हैं। दशमी या एकादशी के दिन यह पर्व स्थानीय पूजा स्थलों में विसर्जन के साथ संपन्न होता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser