पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Now Leave Careless, Break The Chain Of Infection, In 15 Days, 9158 People Have Got 1858 New Containment Zones In Corona, Rajdhani

डरा रहे आंकड़े...:अब लापरवाही छोड़ें संक्रमण की चेन तोड़ें, 22 दिनों में ही 9158 लोगों को कोरोना, राजधानी में 1858 नए कंटेनमेंट जोन बने

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिंदगी से खिलवाड़... पाॅजिटिव आने पर किसी घर की बैरिकेडिंग हो रही ताे किसी की नहीं, पहले जैसी सख्ती भी नहीं

रांची जिला में कोरोना मरीजों की संख्या घटने के बजाय बढ़ती जा रही है। सितंबर महीने के मात्र 22 दिनों के आंकड़ों पर गौर करें तो आपको डराएंगे। क्योंकि इन 22 दिनों में ही रांची जिले में 9158 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। वहीं 31 मार्च से 21 सितंबर तक रांची में 15833 लोग कोरोना के शिकार बने हैं। हालांकि राहत की बात यह है कि इस दौरान 12045 लोग कोरोना को हरा भी चुके हैं। दिनों-दिन बढ़ती पॉजिटिव मरीजों की संख्या के बीच कंटेनमेंट जोन भी बढ़ते जा रहे हैं।

हालांकि, पहले की तरह अब जो माइक्रो कंटेनमेंट जोन बन रहे हैं, उसमें सख्ती नजर नहीं आ रही है। शुरू में एक पॉजिटिव मरीज के मिलने पर पूरे गली व इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित कर बैरिकेडिंग कर दी जाती थी। बाद में पूरे मोहल्ले या गली की बजाय पॉजिटिव मरीज के घर के आसपास के तीन घरों की ही बैरिकेडिंग होती थी। अब सिर्फ पॉजिटिव मरीज के घर के गेट की बैरिकेडिंग की जाती है। वहीं, कई जगह तो मरीज मिलने के बाद भी घर को बैरिकेडिंग नहीं किया जा रहा है, बस पोस्टर चिपकाकर ही छोड़ दिया जा रहा है। जिला प्रशासन की ये लापरवाही लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ है। आंकड़े के अनुसार एक सितंबर तक ओवरऑल 2025 कंटेनमेंट जोन बनाए गए थे। जबकि, महज 21 दिनों में 1858 कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़ी।

कोरोना केस
कोरोना केस

रांची डीसी का आदेश... होम आइसोलेशन के मरीज को 10 दिन में दो बार जांचें डॉक्टर

होम आइसोलेशन की स्वीकृति देने से पहले इंसिडेंट कमांडर संबंधित मरीज का रजिस्ट्रेशन एनएचएम द्वारा विकसित पोर्टल पर सुनिश्चित करें। वहीं होम आइसोलेशन में मरीज की जांच के लिए कम से कम 10 दिन में दो बार डाॅक्टर विजिट करें। डीसी छवि रंजन ने बुधवार को यह निर्देश अधिकारियों को दिया। उन्होंने समाहरणालय सभागार में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए गठित विभिन्न कोषांगों के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने होम आइसोलेशन सेल के वरीय पदाधिकारी से कहा कि होम आइसोलेशन में डाॅक्टर्स विजिट कर रहे हैं या नहीं इसकी पूरी जानकारी रखें। डीसी ने रैपिड एंजीजेन टेस्ट और आरटीपीसीआर टेस्ट के रेशियो को मेंटेन करने का निर्देश देते हुए सदर एसडीओ को सभी टेस्टिंग सेंटर के इंजार्च के साथ समीक्षा कर जांच की संख्या बढ़ाने कहा। वहीं, अब एडीएम लाॅ एंड ऑर्डर स्टैटिक टेस्टिंग सेंटर में टीम किस तरह से काम कर रही है इसकी जांच करेंगे।

एक्सपर्ट व्यू- संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कंटनमेंट जोन जरूरी

कोरोना एक ऐसी बीमारी है, जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को होती है। अगर पॉजिटिव व्यक्ति एक महीना तक दूसरों से नहीं मिले तो यह बीमारी नहीं फैलेगी। ऐसे में कंटेनमेंट जोन बनाने से बहुत फायदा है। अगर कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति किसी से या कोई पॉजिटिव व्यक्ति से नहीं मिले तो संक्रमण का बढ़ना बंद हो जाएगा। वैसे जिन्हें इस बीमारी की शंका है, उन्हें भी दूसरों से नहीं मिलना चाहिए। डॉक्टर से दिखाकर ऐसे लोगों को भी आइसोलेशन में चले जाना चाहिए।
डॉ. संजय सिंह, रिम्स

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें