पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अनकंट्रोल सिस्टम:अब बिजली का रोना... न आंधी, न ठनका हल्की बारिश में घंटों गुल हो रही बिजली

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोमबती के सहारे पढ़ाई
  • रांची में 24 घंटे बिजली का दावा फेल... 14 घंटे तक हो रही कटौती से जीना दुश्वार
  • रांची के तीनों ग्रिड को मिल रही फुल लोड बिजली पर लोगों को राहत नहीं
  • जीरो कट बना सपना, लोकल फॉल्ट व गड़बड़ी की दुहाई आखिर कब तक

राजधानी में बिजली के हालात सुधरने के बजाय और बिगड़ते चले जा रहे हैं। जीरो पावर कट का सपना कब पूरा होगा कोई नहीं बता सकता। हालत ये हो गए हैं कि कब बिजली जाएगी और कब आएगी, इसका अता-पता तक नहीं होता। शहर के कई इलाकों में घंटों बिजली की कटौती ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। मंगलवार की देर शाम से राजधानी में रुक-रुक कर हो रही बारिश के बाद बिजली व्यवस्था चरमरा गई है। आंधी व थडरिंग नहीं होने के बावजूद शहर के कई इलाकों में 14 घंटे से भी ऊपर पावर कट रहा।

जबकि रांची के तीनों ग्रिडों को फुल लोड बिजली मिल रही है। 759 करोड़ खर्च के बावजूद मौसम की मार नहीं झेल पा रहा वितरण सिस्टम। अंडरग्राउंड केबलिंग का काम फंसा: रांची में लचर बिजली व्यवस्था का एक कारण केबल का अंडरग्राउंड नहीं होना भी है। वैसे तो तीन सालों से भी अधिक समय से केबल को अंडरग्राउंड करने का काम चल रहा है लेकिन यह महज 35 प्रतिशत ही पूरा हो पाया है। लॉकडाउन के कारण पहले काम ठप हुआ लेकिन यह अब तक गति नहीं पकड़ सका है।

ये राजधानी है... 36 घंटे के दौरान इन इलाकों में रहा अधिक पावर कट

केस 1 : शहर के सबसे बड़े सबस्टेशन आईटीआई से बेड़े क्षेत्रों में पिस्का मोड़, पंडरा, कमड़े, इटकी रोड, ललगुटवा के क्षेत्रों में आपूर्ति होती है। मंगलवार शाम 6 बजे से बुधवार शाम 4 बजे तक 22 घंटे में 14 घंटे बिजली नहीं रही।

कारण... 33 केवी हटिया-कांके लाइन पेड़ गिरने से ब्रेक डाउन होने से ऐसी स्थिति आई।

केस 2 : विकास फीडर से मंगलवार शाम से लेकर बुधवार की रात तक 20 घंटे के करीब पावर कट

तारों पर पेड़ गिरने से आई परेशानी

मंगलवार की शाम तेज हवा चलने से विकास, रातू हिनू, ब्राम्बे, बरियातू में बिजली के तारों पर पेड़ गिर गए। ये लाइनें अंडरग्राउंड हो जाएंगी तो समस्या नहीं होगी।
पीके श्रीवास्तव, अधीक्षण अभियंता, बिजली वितरण निगम

एक्सपर्ट की राय...33 व 11 केवी की लाइनों को अंडरग्राउंड करना जरूरी है

रांची में नई कॉलोनियां बसती जा रही हैं, लेकिन उसके अनुसार बिजली सुधार के लिए प्लानिंग की नहीं गई। इस कारण लोड बढ़ता जा रहा है। लेकिन वितरण में सुधार नहीं हो पा रहा है। झारखंड में बारिश, तेज हवा और वज्रपात बड़ी समस्या है। इससे निपटने के लिए 33 केवी और 11 केवी की लाइनों को अंडरग्राउंड करना जरूरी है। यह पूरा हो जाए तो सुधार दिखेगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में हैं। आपकी मेहनत और आत्मविश्वास की वजह से सफलता आपके नजदीक रहेगी। सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा तथा आपका उदारवादी रुख आपके लिए सम्मान दायक रहेगा। कोई बड़ा निवेश भी करने के लिए...

और पढ़ें