पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • On The Very First Day, 9 Thousand Passengers Went From Ranchi Hatia Station Without Investigation, The Police Could Not Stop

व्यवस्था पंगु:पहले ही दिन रांची-हटिया स्टेशन से 9 हजार यात्री बिना जांच के गए, पुलिस नहीं राेक पाई

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोई सोशल डिस्टेंसिंग नहीं... रांची स्टेशन पर यात्रियों की भीड़ को व्यवस्थित करने की नहीं थी व्यवस्था। - Dainik Bhaskar
कोई सोशल डिस्टेंसिंग नहीं... रांची स्टेशन पर यात्रियों की भीड़ को व्यवस्थित करने की नहीं थी व्यवस्था।
  • सोमवार से स्टेशन पर यात्रियों की जांच कर पॉजिटिव लोगों को खेलगांव में करना था क्वॉरेंटाइन

​​​​​​जिला प्रशासन की ओर से सोमवार को रांची-हटिया रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर यात्रियों की कोरोना जांच होनी थी। पहले ही दिन रांची रेलवे स्टेशन पर यात्री काेराेना जांच कराए बिना ही बाहर निकल गए और वहां माैजूद पुलिस फाेर्स राेक नहीं पाई। पहले दिन जांच के नाम पर खानापूर्ति हुई। राज्य सरकार जिस उद्देश्य से स्टेशन और एयरपाेर्ट पर काेराेना जांच के लिए कैंप लगाने का निर्देश दिया था, वह पूरा नहीं हाे रहा है। रांची रेलवे स्टेशन पर सुबह 4 से रात 10 बजे तक करीब 5 हजार यात्री आए हैं। हटिया स्टेशन पर 4 हजार और दूसरे राज्य से एयरपाेर्ट पर 1458 यात्री आए हैं। ट्रेन से आने वाले यात्रियाें ने काेराेना जांच नहीं कराई।

जिला प्रशासन ने जांच के लिए स्टेशन के अंदर और बाहर बैरिकेडिंग कराई थी। टेंट, टेबल-कुर्सी लगाया गया था। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जांच के लिए बूथ बनाए गए थे। जिला प्रशासन ने यात्रियों को नियंत्रित करने के लिए फोर्स की तैनाती भी बात कही थी। लेकिन, सारी व्यवस्था धरी की धरी रह गई। जिला प्रशासन की ओर से कहा गया है कि स्टेशन और एयरपाेर्ट पर कुल मिलाकर 2 हजार यात्री की काेराेना जांच की गई, जिसमें केवल 17 यात्री ही पाॅजिटिव पाए गए। सभी यात्रियाें काे खेलगांव क्वाॅरेंटाइन सेंटर भेज दिया गया है।

3 दिन पहले एम्स डायरेक्टर गुलेरिया ने दी 3 चेतावनी... सतर्क न हुए तो 6-8 हफ्ते में तीसरी लहर का खतरा...

1. अगर लोगों ने मास्क, डिस्टेंसिंग और सतर्कता के अन्य उपाय छोड़े तो अगले छह से आठ हफ्ते में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है।
2. बाजारों में भीड़ फिर से बढ़ रही है। ऐसा ही चलता रहा तो संक्रमण बढ़ने में देर नहीं लगेगी। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना ही होगा।
3. बेशक मामले घट रहे हैं, लेकिन इससे टेस्टिंग में कमी नहीं आनी चाहिए। क्योंकि, टेस्ट कम हुए तो संक्रमण के फैलाव का अंदाजा नहीं लगेगा।

यह लापरवाही घातक है... हटिया स्टेशन पर धक्कामुक्की कर बिना जांच कराए निकले

सबसे बुरी स्थिति हटिया स्टेशन पर थी। यहां दोनों तरफ कोरोना जांच के लिए टेंट लगे थे, लेकिन जांच की व्यवस्था नहीं थी। मुंबई से हटिया आई ट्रेन से यात्री उतर कर कोरोना जांच के लिए लाइन में लगे। विलंब होता देख आधे से अधिक यात्री बिना जांच कराए ही धक्का देकर निकल गए।

स्वास्थ्यकर्मियों ने कहा- इतने यात्रियों की सिर्फ तीन टीम कैसे करेगी जांच

स्टेशन पर मौजूद स्वास्थ्य कर्मियों ने कहा कि एक साथ इतने यात्री आने से सिर्फ तीन टीम से कैसे सभी यात्रियों की जांच संभव है। वहीं, जांच के लिए यात्रियों को रोकने वाले जवान देखते रहे। रांची रेलवे स्टेशन पर ऑटो में यात्रियों को ठूंस कर गंतव्य तक ले जाया गया। इसे भी नहीं रोका गया।

एसडीओ ने कहा...2 हजार की हुई जांच, 17 पॉजिटिव पाए गए

इस संबंध में जब एसडीओ उत्कर्ष गुप्ता से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि 2 हजार यात्रियों की जांच हुई है, जिसमें 17 यात्री पॉजिटिव पाए गए, जिन्हें खेलगांव में क्वॉरेंटाइन किया गया है।

खबरें और भी हैं...