माइनिंग अफसरों ने ईडी के सामने कबूला:पंकज मिश्रा का खनन पर कब्जा, बांग्लादेश तक जाता है अवैध पत्थर

रांची9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ में पाकुड़ और दुमका के जिला खनन पदाधिकारियों (डीएमओ) ने बताया है कि संथाल परगना में खनन उद्योग पर बरहेट के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा का नियंत्रण है। दुमका डीएमओ कृष्ण चंद्र किस्कू और पाकुड़ डीएमओ प्रदीप कुमार साह ने कबूला कि अवैध खनन में पंकज मिश्रा का सीधा हस्तक्षेप रहता है।

अवैध पत्थरों की सप्लाई बांग्लादेश तक की जाती है। यह जानकारी मिलने के बाद ईडी ने संबंधित जिले के उपायुक्तों से कागजात मांगे हैं। इनमें पत्थर ट्रांसपोर्टिंग से संबंधित वाहनों के चालान व खनन पट्टों के कागजात शामिल है। ईडी को जानकारी मिली है कि अवैध खनन के जरिए ना सिर्फ मनी लॉन्ड्रिंग हुई, बल्कि सरकार को करोड़ों रुपए की हानि हुई है।

वहीं, दूसरी ओर ईडी ने बुधवार को बिल्डर विनय को पूछताछ के लिए बुलाया। वे सुबह लगभग 10 पहुंचे। दो घंटे की पूछताछ में जैन समाज से जुड़े ट्रस्ट की जमीन संबंधी मामले की जानकारी ली गई है। बता दें कि ईडी बिना समन जारी किए कई लोगों को पूछताछ के लिए बुला रही है।

पाकुड़ की एक पत्थर खनन कंपनी स्थानीय नेता की

ईडी सूत्रों के अनुसार दुमका से अवैध पत्थर बड़ी मात्रा में शिकारीपाड़ा होते हुए बंगाल भेजे जाते थे। वहीं, स्टोन चिप्स रेलवे के माध्यम से बांग्लादेश भेजा जाता था। ईडी की पूछताछ में यह बात भी सामने आई है कि माफिया चालान बोल्डर का कटाते थे और भेजा जाता था स्टोन चिप्स।

बिना परमिट के रेलवे से अवैध पत्थरों का परिवहन किया गया। ईडी के संज्ञान में ऐसे कुछ मामले सामने आए है, इनमें ओटन दास एंड कंपनी प्राइवेट लिमिटेड, स्टोन इंडिया और एनएसएस एंड कंपनी का मामला शामिल है। इन कंपनियों पर रेलवे के माध्यम से पत्थर को बिना परमिट ले जाने का आरोप है।
अभी साहिबगंज डीएमओ से पूछताछ बाकी
पूछताछ में यह जानकारी मिली है कि जिन कंपनियों पर आरोप के मामले सामने आए है उनमें एक पाकुड़ के स्थानीय दबंग नेता की है। उक्त कंपनी का इस्तेमाल पत्थर खनन के जरिए मनी लॉन्ड्रिंग के लिए किया जाता है।

साहिबगंज में भी इसी तरह के अवैध पत्थर परिवहन के जरिए सरकार के राजस्व की चोरी के मामले सामने आए है। साहिबगंज के डीएमओ से पूछताछ के बाद वहां से भी और कई जानकारियां ईडी को मिलने की उम्मीद है।

पूजा सिंघल की तबीयत बिगड़ी, आराम की सलाह
ईडी की हिरासत में आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल काफी परेशान हैं। उनके स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव हो रहा है। बुधवार की शाम4 बजे पूछताछ के दौरान अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई। आनन-फानन में सदर अस्पताल से डॉक्टरों की टीम बुला कर पूजा सिंघल का मेडिकल चेकअप करवाया गया। डॉक्टरों के अनुसार पूजा तनाव में हैं।

इसी वजह से उनकी तबीयत में उतार-चढ़ाव हो रहा है। उन्हें बीपी की दवाइयां दी जा रही हैं, लेकिन बेहद तनाव में होने की वजह से दवा से उनका बीपी कंट्रोल नहीं हो पा रहा है, जिस कारण उन्हें चक्कर आने की समस्या हो रही है। फिलहाल उन्होंने उन्हें कुछ घंटे आराम करने की सलाह दी है।

इधर, राज्य सरकार ने मनरेगा घाेटाले मे दर्ज सभी 16 एफआईआर और जांच की स्टेटस रिपाेर्ट हाईकाेर्ट में पेश कर दी है। शेल कंपनी और माइंस लीज मामले में सुनवाई के दाैरान मंगलवार काे हाईकाेर्ट ने यह रिपाेर्ट मांगी थी। अब इस मामले में गुरुवार काे हाईकाेर्ट की स्पेशल बेंच में सुनवाई हाेगी।

खबरें और भी हैं...