चैंबर ऑफ कॉमर्स चुनाव 2021-22:अपर बाजार में पार्किंग की व्यवस्था धीरज तनेजा टीम की होगी पहली प्राथमिकता

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चैंबर भवन में जीत के बाद धीरज टीम के सदस्यों ने खूब धमाल मचाया, एक साथ तस्वीरें भी खिंचवाई। - Dainik Bhaskar
चैंबर भवन में जीत के बाद धीरज टीम के सदस्यों ने खूब धमाल मचाया, एक साथ तस्वीरें भी खिंचवाई।
  • 35 प्रत्याशियों में से 12 निर्दलीय भी मैदान में डटे थे
  • धीरज तनेजा टीम के 18 प्रत्याशी जीते, तीन निर्दलियों पर भी सदस्यों ने जताया भरोसा

सत्र 2021-22 के चुनाव में धीरज टीम ने जीत दर्ज की है। इसके 18 सदस्य जीते हैं। सर्वाधिक वोट किशोर मंत्री को आया। वहीं दूसरे नंबर पर राहुल मारू और तीसरे नंबर पर धीरज तनेजा रहे। वहीं 3 निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है। तीन चरण के मतदान के बाद तीसरे दिन रात 8.30 बजे चुनाव के परिणाम की घोषणा चुनाव अधिकारियो ने की। घोषणा के साथ ही टीम धीरज में खुशी की लहर दौड़ पड़ी।

टीम के सर्मथक ताशा की धुन पर थिरकने लगे। मालूम हो कि इस वर्ष चैंबर भवन में ही चुनाव संपन्न हुआ। तीन दिनों में करीब 50 प्रतिशत वोट पड़े। कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन किया गया। चैंबर के कुल 3480 सदस्यों में से 1708 सदस्यों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। चुनाव में खास बात यह रही कि एक टीम के सामने 12 निर्दलीय डटे थे। दूसरी टीम नहीं बनी।

किस वर्ष कौन बने अध्यक्ष

1. 2015-16 में पवन शर्मा की टीम ने क्लिन स्विप किया था। पवन को 1476 व मनीष सर्राफ को 816 वोट मिले थे 2. वर्ष 2016-17 में विनय अग्रलवाल की टीम ने आरडी सिंह की टीम को हराया था। विनय को 1482 वोट मिले थे । 3. वर्ष 2017-18 में रंजीत गाड़ोदिया की टीम ने जीती थी। गाड़ोदिया को 1722 वोट मिले थे। मुकुल तनेजा को 1488। 4. वर्ष 2019-20 के चुनाव में कुणाल आजमानी की टीम किशोर मंत्री की टीम से जीती थी। कुणाल को 1593 व किशोर को 1457 वोट मिले थे। 5. वर्ष 2020-21 में कोरोना के कारण चुनाव नहीं हुआ। सर्वसम्मति से प्रवीण जैन छाबड़ा अध्यक्ष चुने गए।

धीरज तनेजा कई वर्षों से चैंबर में सक्रिय

  • धीरज तनेजा कार्यकारिणी में तीन वर्ष रह चुके हैं। अभी वो उपाध्यक्ष हैं। इससे पहले वे कुणाल आजमानी की टीम में भी महासचिव बने थे।
  • जीते निर्दलीय प्रत्याशी भी 21 टीम में शामिल होकर चैंबर की पाॅलिसी मेकिंग में भूमिका निभा सकते हैं। उन्हें जिम्मेवारी भी दी जा सकती है।
  • चैंबर का नियमित चुनाव 1990 से हो रहा है। 1960 में चैंबर की स्थापना राय बहादुर जैन और आत्मा राम बुधिया की अगुवाई में हुई थी।
  • जानकारों ने बताया कि एक टीम 4-5 सालों एक्टिव रहती है। टीम सदस्यों में जब तक समन्वय बना रहता है, तबतक टीम चलती रहती है।

रिंग रोड पर ट्रांसपोर्ट नगर, थोक वस्त्र, आयरन, बिल्डिंग मटेरियल मार्केट स्थापित कराएंगे

धीरज तनेजा ने कहा- बतौर चैंबर अध्यक्ष मेरी प्राथमिकता होगी कि अपर बाजार में पार्किंग की मुक्क्मल व्यवस्था जल्द से जल्द हो। इसके लिए पहले से प्रयास चल रहा है। लेकिन अब मामला कोर्ट में फंसा है। बकरी बाजार में पार्किंग नहीं होने पर अल्टरनेट व्यवस्था के लिए पूरी कोशिश होगी। अपर बाजार से ट्रैफिक की समस्या दूर करना चैंबर की पहली प्राथमिकता है। तनेजा ने कहा कि वेंडर मार्केट में पार्किंग की व्यवस्था हुई है। लेकिन वहां से अपर बाजार काफी दूर है।

उन्होंने कहा कि हम सेवा सदन के सामने बड़ा तालाब के पास भी पार्किंग बनवाने की कोशिश करेंगे। उन्होंने कहा कि ईज ऑफ डुईंग बिजनेस के लिए सरकार के साथ समन्वय बनाकर काम कराना है। जीएसटी का सरलीकरण कराना और सिंगल विंडों को राज्य में और प्रभावशाली बनवाना है। उन्होंने कहा कि टूरिस्ट हब के क्षेत्र में खास योजनाएं बनाकर सरकार से कार्य कराने का प्रयास करेंगे। रिंग रोड पर ट्रांसपोर्ट नगर, थोक वस्त्र मार्केट, आयरन मार्केट, बिल्डिंग मटेरियल मार्केट व अन्य मार्केट स्थापित करवाना भी प्राथमिकताओं में एक है।

 धीरज तनेजा ने कहा कि रांची में अंतराष्ट्रीय विमान सेवा प्रारंभ कराना व झारखंड के प्रमुख शहरों के बीच विमान सेवा शुरू कराने की भी कोशिश करेंगे। है। लाइसेंसों का सरलीकरण, महिला व एसटी-एससी उद्यमियों को बढ़ावा देंगे। उद्योग व व्यापार नियामक आयोग का गठन कराने की पूरी कोशिश की जाएगी। उन्होंने कहा कि चैंबर में रहते हुए बिजली वितरण व्यवस्था प्रोफेशनल संस्थानों के हाथ में देकर सुव्यवस्थित कराएंगे।

खबरें और भी हैं...