छठ महापर्व:तालाबों की सफाई तो हुई,पर कहीं पानी हरा, तो कहीं बदबूदार, कैसे देंगे अर्घ्य

रांची22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हरमू नदी काे छाेड़कर सभी डैम-तालाब लबालब

साेमवार काे नहाय-खाय के साथ नेम-निष्ठा के छठ महापर्व की शुरुआत हाे जाएगी। चार दिवसीय महापर्व की तैयारी तेज हाे गई है। छठ घाट तैयार किए जा रहे हैं। लेकिन धुर्वा डैम पर छठ पूजा के दाैरान अर्घ्य देने की छूट मिलेगी या नहीं, इस पर अभी तक काेई निर्णय नहीं हाे पाया है। एसडीओ-सिटी एसपी ने धुर्वा डैम की स्थिति पर अपनी रिपोर्ट बनाकर वरीय अधिकारियों काे दे दी है।

अब डीसी और एसएसपी हर पहलु का आकलन करने के बाद तय करेंगे कि धुर्वा डैम पर छठ पूजा के लिए अर्घ्य देने की छूट मिलेगी या नहीं। एसडीओ दीपक दुबे ने बताया कि एक-दाे दिनों में इस पर फैसला हाे जाएगा। इधर, दैनिक भास्कर की टीम ने शनिवार काे शहर के प्रमुख नदी-तालाबाें की स्थिति का जायजा लिया। हरमू नदी काे छाेड़कर सभी छठ घाटाें का जलस्तर बढ़ा मिला। अगर छठ घाटाें पर बैरिकेडिंग नहीं हाेती है, ताे छठव्रतियों काे अर्घ्य देने में परेशानियाें का सामना करना पड़ सकता है।

घर पर ही दें अर्घ्य, मुहल्लाें में जलकुंड भी बनाएगा निगम
नगर आयुक्त मुकेश कुमार ने कहा कि 8 नवंबर तक हर हाल में छठ घाटाें और रास्ताें की सफाई पूरी हाे जाएगी। लाइट की भी व्यवस्था हाेगी। लेकिन काेराेना काे देखते हुए भीड़ से बचने की जरूरत है। लाेग अपने घर या मुहल्ले में ही जलकुंड बनाकर अर्घ्य दें, ताे अधिक समस्या नहीं हाेगी। निगम भी मुहल्लों में कृत्रिम जलकुंड बनाएगा।

जानिए... क्या है इन जलाशयों की स्थिति

  • कांके डैम : इस बार जलस्तर बढ़ा हाेने की वजह से सीढ़ी तक पानी पहुंचा हुआ है। इसके बावजूद सबसे सुरक्षित घाट यही है, क्याेंकि पानी में सीढ़ी के सहारे उतरने के बाद लाेहे के बैरिकेड्स लगे हैं।
  • हरमू नदी : हरमू नदी में इस बार अर्घ्य देना मुश्किल है। नदी में हर ओर कचरा फैला है। विद्यानगर छठ घाट पर गाेबर सुखाया जा रहा है। करम चाैक के पास भी नदी में नाले का पानी बह रहा है, जिससे दुर्गंध फैल रहा है।
  • ​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​तेतरटाेली: तालाब के चाराें ओर घाट बना दिया गया है, लेकिन सीढ़ियाें पर पूजन सामग्री फैली है। पानी का रंग हरा हाे गया है। पानी से दुर्गंध भी उठ रहा है। ब्लीचिंग और चूना डालकर नहीं छाेड़ा गया, ताे व्रतियों काे दिक्कत होगी।
  • करमटाेली : यह तालाब पूरी तरह साफ-स्वच्छ है। यहां दाे तरफ बनाए गए छठ घाट में व्रतियों काे अर्घ्य देने में दिक्कत नहीं हाेगी। पानी भी दूसरे तालाबाें की तुलना में ज्यादा साफ है।
  • टुनकी टाेली : रिम्स कैंपस के टुनकी टाेली तालाब की भी सफाई हो गई है, लेकिन यहां का पानी भी हरा है। तालाब का रास्ता खराब है। दंडवत करते हुए आने वाले व्रतियों काे दिक्कत हाेगी।
खबरें और भी हैं...