• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Pradeep, Who Was Trapped In The Defection Case, Was Not Recognized As A Congress MLA, Yet He Was Allowed To Come As A Deputy Leader.

शीतकालीन सत्र से पहले स्पीकर ने की बैठक:दल बदल मामले में फंसे प्रदीप को कांग्रेस विधायक की मान्यता नहीं, फिर भी बतौर उपनेता आने दिया

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक में सीएम हेमंत सोरेन, प्रदीप यादव, कमलेश सिंह, सत्यानंद भोक्ता, विनोद सिंह व अन्य। - Dainik Bhaskar
बैठक में सीएम हेमंत सोरेन, प्रदीप यादव, कमलेश सिंह, सत्यानंद भोक्ता, विनोद सिंह व अन्य।
  • बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष की मान्यता नहीं, इसलिए बुलाया नहीं, भाजपा ने किया बैठक का बहिष्कार
  • आरोप, भाजपा के मुख्य सचेतक बीरंची नारायण ने कहा- विधानसभा अध्यक्ष भेदभाव कर रहे हैं

विधानसभा शीतकालीन सत्र के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष रवींद्र नाथ महतो की ओर से मंगलवार को बुलाई गई बैठक से भाजपा और आजसू ने किनारा किया। मानसून सत्र के पूर्व भी आयोजित ऐसी बैठक में भाजपा का कोई प्रतिनिधि नहीं शामिल हुआ था। वैसे, कांग्रेस की ओर से विधायक दल के उपनेता की हैसियत से शामिल प्रदीप यादव की मौजूदगी ने कई सवालों को जन्म दिया है।

गौरतलब है कि दल बदल मामले में विधानसभा अध्यक्ष के न्यायाधिकरण में बाबूलाल मरांडी, प्रदीप यादव और बंधु तिर्की का मामला चल रहा है। ये तीनों विधायक जेवीएम की टिकट पर जीते थे। जेवीएम के भाजपा में विलय के बाद पार्टी ने बाबूलाल मरांडी को विधायक दल का नेता बनाया, पर विधानसभा में उन्हें अभी भी नेता प्रतिपक्ष के रूप में मान्यता नहीं मिली है।

इधर, कांग्रेस ने भी प्रदीप यादव को पार्टी विधायक दल का उपनेता बनाया है। पर, जिस तरह से स्पीकर की बैठक में प्रदीप यादव की उपस्थिति रही, उससे भाजपा ने उन्हें आरोपों के घेरे में लिया है। भाजपा के मुख्य सचेतक बीरंची नारायण ने कहा है कि विधानसभा अध्यक्ष भेदभाव कर रहे हैं। उन्हें कायदे से भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी को बैठक में आमंत्रित करना चाहिए था।

सीएम ने जताई उम्मीद, शांतिपूर्ण चलेगा सदन

सीएम हेमंत सोरेन कहा, उन्हें उम्मीद है कि सदन शांतिपूर्ण ढंग से चलेगा। सत्र में जनता से जुड़े मसलों पर चर्चा होगी और समाधान निकालेगा। मंत्री सत्यानंद भोक्ता बोले, सरकार विपक्ष के हर सवाल का जवाब देने की तैयारी के साथ सदन में आएगी। विधायक कमलेश सिंह ने कहा कि जनता के सवालों का जवाब अधिकारी ठीक से दें।

सदन सुचारू रूप से चले, विधानसभा अध्यक्ष ने मांगा सहयोग

विधानसभा अध्यक्ष ने बैठक में मौजूद विभिन्न पार्टियों के नेताओं से सहयोग मांगते हुए कहा कि प्रश्नकाल बाधित न हो, सदन सुचारू रूप से चले, इसमें सभी अपना योगदान करें। स्पीकर ने कहा कि 22 दिसंबर तक चलने वाले सदन में जनता की बातें सामने आएं, इसका प्रयास होगा। 16 से 22 दिसंबर तक शीतकालीन सत्र चलेगा। अधिकारियों के साथ बैठक में विस अध्यक्ष ने निर्देश दिया कि सदन में विधायकों के सवालों का जवाब सही तरीके से मिले।

बैठक में क्यों नहीं गए

  • बिरंची नारायण : भाजपा सचेतक ने कहा कि स्पीकर बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष की मान्यता दें। जब प्रदीप यादव को कांग्रेस के उपनेता के रूप में बैठक में बुला सकते हैं, तो बाबूलाल को नेता प्रतिपक्ष के रूप में बुलाया जाना चाहिए।
  • लंबोदर महतो : आजसू पार्टी विधायक दल के नेता सुदेश महतो हैं। उन्होंने मुझे जाने को अधिकृत किया था, पर आवश्यक कार्य से बाहर होने के कारण बैठक में जा नहीं पाया।

क्यों शामिल हुए प्रदीप यादव

  • रवींद्र नाथ महतो : प्रदीप यादव लगातार आते रहे हैं, आज भी आए थे। संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम ने फोन पर बताया था कि वे बाहर हैं। प्रदीप यादव के कांग्रेस विधायक दल के उपनेता बनने की कोई जानकारी नहीं है।
  • राजेश ठाकुर : प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बोले, प्रदीप यादव विधायक दल के उपनेता हैं। चूंकि पार्टी विधायक दल के नेता आलमगीर आलम रांची से बाहर हैं, ऐसे में प्रदीप बैठक में शामिल हुए।
खबरें और भी हैं...