पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पूर्व राष्ट्रपति को नमन:प्रणब दा ने परिसीमन में आदिवासियों की मदद की, झारखंड की सीटें नहीं घटने दी : डॉ. उरांव

रांची2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कांग्रेस भवन में प्रणब मुखर्जी को दी गई श्रद्धांजलि

पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रणब मुखर्जी के निधन पर मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय कांग्रेस भवन रांची में शोक सभा की गई। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष डाॅ. रामेश्वर उरांव की अध्यक्षता में हुए कार्यक्रम में पार्टी के नेताओं ने दो मिनट का मौन रख कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की तथा उनके किये कार्यों एवं विचारों पर चर्चा की। प्रदेश अध्यक्ष ने इस अवसर पर कहा कि प्रणब मुखर्जी के निधन से काफी दुःख पहुंचा।

उन्होंने झारखंड की काफी मदद की है। परिसीमन के वक्त उनसे लगातार मिलने का मौका मिला और उन्होंने भी झारखंड के आदिवासियों की मदद की और यहां की सीटें घटने नहीं दीं। इसके लिए उन्होंने संसद में सभी दलों का सहयोग लिया और उन्होंने लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए हर कदम उठाये। वे कानून के अच्छे ज्ञाता थे और संसद में अपनी एवं सरकार की राय मजबूती के साथ रखते थे।

प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा कि हमने कांग्रेस ही नहीं देश और दुनिया का कद्दावर नेता खोया है।इस अवसर पर पूर्व विधायक जय प्रकाश गुप्ता, अनादि ब्रह्म, शमशेर आलम, अमूल्य नीरज खलखो, केशव महतो कमलेश, लाल किशोर नाथ शाहदेव, डाॅ. राजेश गुप्ता, शमशेर आलम, राजीव रंजन प्रसाद, रवीन्द्र सिंह, नेली नाथन, निरंजन पासवान, सुन्दरी तिर्की, विनय सिन्हा दीपू, सन्नी टोप्पो, जगदीश साहू, सलीम खान, बेलस तिर्की, प्रभात कुमार, समेत दर्जनों कांग्रेसी शामिल हुए।

प्रोफेशनल कांग्रेस ने पूर्व राष्ट्रपति को दी श्रद्धांजलि : झारखंड प्रोफेशनल कांग्रेस कमेटी के आदित्य विक्रम जायसवाल ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की निधन पर गहरा दु:ख प्रकट किया। अपने आवासीय कार्यालय, लालपुर में दो मिनट का मौन रखकर पार्टी का झंडा झुकाया, जो 06 सितंबर तक सात दिन झुका रहेगा। प्रोफेशनल कांग्रेस के सदस्यों ने उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। दीप प्रज्वलित किया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें