पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Preparations For Removal Of Momentum Jharkhand's Knowledge Partner 'Ernest And Young' From Medico City Project Of Rs 750 Crore In Raghuvar Government

रोक लगेगी:रघुवर सरकार में मोमेंटम झारखंड की नॉलेज पार्टनर ‘अर्नेस्ट एंड यंग’ को 750 करोड़ के मेडिको सिटी प्रोजेक्ट से हटाने की तैयारी

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 51 लाख रुपए का भुगतान किया जाना है कंपनी को
  • स्वास्थ्य विभाग सीएम और मंत्री को भेजेगा प्रोजेक्ट की फाइल

पवन कुमार, रघुवर सरकार में मोमेंटम झारखंड की नॉलेज पार्टनर रही ‘अर्नेस्ट एंड यंग’ कंपनी को राजधानी के इटकी में बनने वाले मेडिको सिटी प्रोजेक्ट से हटाने की तैयारी की जा रही है। नई सरकार और वर्तमान आर्थिक परिस्थितियों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने निर्णय लिया है कि इस महत्वाकांक्षी योजना को धरातल पर उतारने से पहले मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता को जानकारी दी जाएगी।

मुख्यमंत्री के आदेश के अनुसार ही अब इस पर काम बढ़ाया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग के इस फैसले के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि मेडिको सिटी प्रोजेक्ट आगे बढ़ेगा या नहीं, यह सीएम स्तर पर तय होगा। उल्लेखनीय है कि 750 करोड़ की इस योजना के लिए ‘अर्नेस्ट एंड यंग’ का चयन 2016-17 में ट्रांजेक्शन एडवाइजर के रूप में किया गया था। कंपनी को 51 लाख रुपए का भुगतान किया जाना है।

इसमें से कुछ राशि का भुगतान किया भी जा चुका है। इटकी स्थित टीबी सेनेटोरियम परिसर में मेडिको सिटी के लिए चिह्नित जमीन की घेराबंदी उद्योग विभाग की ओर से कर दी गई है। इधर, इस बारे में कंपनी प्रतिनिधियों ने कहा कि जो पदाधिकारी इस प्रोजेक्ट को देख रहे हैं, उनसे बात करने के बाद भी कुछ कहा जा सकता है। 

खर्च पर सवाल कर उद्योग विभाग से कंपनी को हटा चुके हैं मुख्यमंत्री

अर्नेस्ट एंड यंग इज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए उद्योग विभाग के सलाहकार के तौर पर पांच वर्ष से काम कर रही थी। कंपनी को प्रतिमाह 30 लाख रुपए भुगतान होता था। 2015 में नियुक्त इस कंपनी का कार्यकाल मार्च-2020 तक ही था। इसी दौरान उद्योग विभाग की ओर से अवधि विस्तार से संबंधित फाइल मुख्यमंत्री के पास भेजी गई।

उस समय सीएम ने विभाग से सवाल पूछते हुए जानकारी मांगी थी कि इस कंपनी को रखने से राज्य को क्या लाभ है। अपने जवाब में विभाग ने बताया कि यह कंपनी मोमेंटम झारखंड के आयोजन में भी नॉलेज पार्टनर के रूप में कार्यरत रही है। हालांकि, वह अनुबंध 2018 में ही समाप्त हो चुका है। इसके बाद सीएम ने कंपनी को हर माह दिए जाने वाले 30 लाख रु. के औचित्य पर ही सवाल उठाते हुए कंपनी को अवधि विस्तार देने से मना कर दिया। 

73 एकड़ क्षेत्र में होनी है मेडिको सिटी की स्थापना
73 एकड़ जमीन पर मेडिको सिटी की स्थापना की जानी है। इसमें छोटे-बड़े अस्पताल के अलावा सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल भी बनाए जाने हैं। इसके अलावा स्वास्थ्य से जुड़े शैक्षणिक संस्थान जैसे मेडिकल कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज, पारा मेडिकल संस्थान आदि का संचालन पीपीपी (पब्लिक प्राइवेट पार्टिसिपेशन) मोड पर होगा।

कंपनियों ने नहीं दिखाई रुचि तो शर्तों में किया बदलाव
सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के रिक्वेस्ट फॉर क्वालिफिकेशन आमंत्रित किया था। दो कंपनियां मेडिट्रिना और एशियन हॉस्पिटल ने दिलचस्पी दिखाई। लेकिन रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल में शामिल नहीं हुईं। इसके बाद सरकार ने कंसलटेंट अर्नेस्ट एंड यंग के जरिए मेडिको सिटी के प्रोजेक्ट कंपोनेंट, स्ट्रक्चर और निविदा की शर्तों में बदलाव किया है, ताकि कंपनियां आगे आ सकें।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आपका कोई सपना साकार होने वाला है। इसलिए अपने कार्य पर पूरी तरह ध्यान केंद्रित रखें। कहीं पूंजी निवेश करना फायदेमंद साबित होगा। विद्यार्थियों को प्रतियोगिता संबंधी परीक्षा में उचित परिणाम ह...

और पढ़ें