• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Ranchi Bijli News; Electricity Is Being Cut Every Day For 3 4 Hours In Ranchi, Officials Said – 160 MW Supply Is Getting Less Than The Demand

झारखंड में बिजली संकट:रांची में हर रोज 3-4 घंटे कट रही है बिजली, अधिकारियों ने कहा- डिमांड से 160 मेगावाट कम हो रही सप्लाई

रांचीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सर्दी के मौसम में भी झारखंड बिजली संकट से जूझ रहा है। पहले ग्रामीण इलाका अंधेरे में था, अब इसका असर राजधानी में भी दिखने लगा है। रांची के अलग-अलग इलाकों में पिछले एक सप्ताह से हर रोज लगभग 3-4 घंटे की बिजली कटौती हो रही है। बमुश्किल 20 घंटे की बिजली मिल रही है।

JBVNL के GM पीके श्रीवास्तव ने दैनिक भास्कर को बताया कि रांची में हर रोज डिमांड से लगभग 160 मेगावाट बिजली कम मिल रही है। इसके कारण बिजली में कटौती की जा रही है। जब तक ये पूरी तरह सही नहीं हो जाता है ये स्थिति बनी रहेगी।

वहीं झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड (JVBNL) के ऑपरेशन हेड केके वर्मा ने दैनिक भास्कर को बताया कि यह समस्या अस्थायी है। NTPC बाढ़ पावर प्लांट और ओडिशा के परली-हरली पावर प्लांट में तकनीकी खराबी आई है। इसके कारण राज्य को लगभग कम बिजली मिल रही है। अगले 48 घंटे में इस समस्या का समाधान कर लिया जाएगा।

कोयले के अभाव में 6 महीने से बंद है TVNL की एक यूनिट
वहीं राज्य में बिजली कटौती की एक बड़ी किल्लत तेनुघाट विद्युत निगम लिमिटेड (TVNL) की एक यूनिट का बंद रहना भी है। यहां के MD अनुल कुमार शर्मा ने दैनिक भास्कर को बताया कि फिलहाल एक यूनिट से 170 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जा रहा है। नियमित कोयला नहीं मिलने कारण दूसरी यूनिट बंद है। कोयला खरीदारी की बात CCL से चल रही है। कोयला मिलते ही दूसरी यूनिट भी शुरू हो जाएगी।

इन जिलों में भी हो रही बिजली की किल्लत
वहीं, रांची के अलावा गुमला, सिमडेगा, खूंटी, लोहरदगा समेत रांची एरिया बोर्ड के अन्य इलाकों में दिन भर बिजली ने उपभोक्ताओं को रुलाया, जिस कारण ठंड में लोगों के दैनिक कार्य पूरी तरह प्रभावित रहे।

लोड शेडिंग से ट्रांसफार्मर में भी आई समस्या

रांची में बिजली संकट के दौरान लगातार बिजली आने-जाने व लोड बढ़ने-घटने की समस्या का असर ट्रांसफार्मर पर भी पड़ रहा है। कई मोहल्लों में ट्रांसफार्मरों के फ्यूज उड़ने की शिकायत आ गई, जिस कारण भी एक से दो घंटे मोहल्लों में बिजली ठप हो गई, जो शिकायत के बाद ही दुरुस्त हो पाई। चुटिया पावर हाउस अंतर्गत ही चार जगहों में एक साथ ट्रांसफार्मर में समस्या आ गई थी।

पिछले 24 घंटे में क्या रही रांची के ग्रिड की स्थिति

  • कांके ग्रिड : जरूरत 80 मेगावाट
  • बिजली मिली : 50 मेगावाट
  • नामकुम ग्रिड : जरूरत 60-70 मेगावाट
  • बिजली मिली : 45 मेगावाट
  • हटिया ग्रिड : जरूरत 210 मेगावाट
  • बिजली मिली : 160-170 मेगावाट